Breaking News

Top News

निकाय चुनाव की बड़ी सनसनी – मतदान से पहले एक राजनीतिक दल की प्रमुख नेत्री की कमीशनखोरी का भंडाफोड़ होगा, कॉल रिकॉर्डिंग से अफसरों के भ्रष्टाचार का खुलासा भी   

Share Now

द सीजी न्यूज डॉट कॉम । स्पेशल रिपोर्टर

नगरीय निकायों के चुनावी इतिहास में पहली बार कमीशनखोरी का खुलासा होगा। हमारे भरोसेमंद सूत्रों ने बताया कि बीते वर्षों में कमीशनखोरी की पुख्ता जानकारी देने वाली बातचीत रिकॉर्डिंग से संबंधित क्लिप को मतदान से एक हफ्ते पहले मीडिया के सामने पेश किया जाएगा। जानकारी के अनुसार रिकॉर्डिंग में प्रदेश के एक नगर निगम की प्रमुख भाजपा नेत्री की कमीशनखोरी का भांडा फूटेगा।

कॉल रिकॉर्डिंग से पता चलता है कि नगर निगम में बीते वर्षों में किस कदर कमीशनखोरी का खेल खेला गया है ? हालांकि, भ्रष्टाचार को लेकर इस नगर निगम में कई साल से भ्रष्टाचार के आरोप लगाए जा रहे हैं, लेकिन आरोप के पुख्ता सबूत पहले कभी पेश नहीं किए गए। पहली बार कमीशनखोरी के पुख्ता सबूत देने वाली कॉल रिकॉर्डिंग में एक राजनीतिक दल की प्रमुख नेत्री के कमीशन मांगने और उनके निवास पर जाकर लाखों रुपए का लिफाफा देने की बातचीत का खुलासा होता है।

हमारे विश्वस्त सूत्र ने अभी यह बताने से इंकार कर दिया है कि कॉल रिकॉर्डिंग से भ्रष्टाचार का खुलासा किस दिन, किस समय किया जाएगा ? संभावना जताई जा रही है कि मतदान से ठीक एक हफ्ते पहले रिकॉर्डिंग से संबंधित सनसनीखेज खुलासा हो सकता है। सूत्रों ने यह भी दावा किया है कि कॉल रिकॉर्डिंग में भाजपा नेत्री के अलावा एक एमआईसी मेंबर की कमीशनखोरी भी रिकॉर्ड की गई है। जानकारी के अनुसार भ्रष्टाचार और कमीशनखोरी की पुष्टि करने वाले कुल 3 रिकॉर्डिंग की क्लिप हैं।

इसमें से एक क्लिप में करीब 5 से 7 मिनट की बातचीत की रिकॉर्डिंग सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है। इसी रिकॉर्डिंग में यह खुलासा किया गया है कि भाजपा नेत्री ने कितना परसेंट कमीशन मांगा और कितना भुगतान किया गया। रिकॉर्डिंग में हुई बातचीत से यह भी रिकॉर्ड किया गया है कि पुराने कमिश्नर कितना कमीशन लेते थे और नए कमिश्नर का कितना कमीशन तय हुआ है। उनके अलावा ईई, असिस्टेंट इंजीनियर, सब इंजीनियर समेत पूरे सिस्टम को कितना कमीशन बांटा जा रहा है, इसकी डीटेल जानकारी है।

कॉल रिकॉर्डिंग की क्लिप हासिल करने प्रतिद्वंदी दल के नेता सक्रिय

मजे की बात ये है कि जिस दल की प्रमुख नेत्री की कॉल रिकॉर्डिंग की गई है, उसी दल के एक खांटी कार्यकर्ता के पास कॉल रिकॉर्डिंग की क्लिप है। इस क्लिप को हासिल करने के लिए प्रतिद्वंदी राजनीतिक दल के नेताओं ने संपर्क साधना शुरू कर दिया है। महापौर पद की दौड़ में शामिल एक पार्षद प्रत्याशी भी उस कार्यकर्ता से लगातार संपर्क कर रहे हैं, ताकि ज्यादा से ज्यादा सुर्खियां बटोरी जा सके।