Breaking News

Top News

वोरा निवास में कांग्रेस पार्षदों की बैठक में सत्यवती वर्मा और मदन जैन नहीं आए, 28 पार्षद बैठक में शामिल, क्रास वोटिंग से बचने 28 कांग्रेस पार्षदों को रायपुर ले जाने की तैयारी

Share Now

डैमेज कंट्रोल रोकने एआईसीसी मेंबर शानू वोरा ने बैठक ली

क्रास वोटिंग को लेकर प्रदेश कांग्रेस नेतृत्व अलर्ट, किसी भी बगावत को हर हाल में रोकने हाईकमान के सख्त निर्देश

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अनुशासनहीनता करने वालों को दे चुके हैं वार्निंग

सीजी न्यूज डॉट कॉम

महापौर पद के लिए 6 जनवरी को चुनाव के मद्देनजर अब कांग्रेस ने तगड़ी मोर्चेबंदी शुरू कर दी है। एआईसीसी के सदस्य शानू वोरा ने शनिवार को शाम 7 बजे वोरा निवास पहुंचकर लामबंदी करने वाले चारों दावेदारों को चर्चा के लिए बुलाया। चर्चा के बाद रविवार को सुबह 10 बजे सभी कांग्रेस पार्षदों को वोरा निवास बुलाया गया। लामबंदी करने वाले चार पार्षदों में से सिर्फ राजकुमार नारायणी और अब्दुल गनी ही बैठक में पहुंचे हैं। इधर, शहर कांग्रेस अध्यक्ष आरएन वर्मा (महापौर दावेदारी कर रही ) का कहना है कि

सत्यवती वर्मा और मदन जैन बैठक में नहीं आए। बैठक में कुछ देर तक विधायक अरूण वोरा रहे। इसके बाद वे बैठक से बाहर निकल गए।    शानू वोरा ने कांग्रेस पार्षदों की बैठक लेकर कांग्रेस पार्षदों को एकजुट रहकर अनुशासित रहने का संदेश दिया। प्रदेश कांग्रेस कमेटी की मंशा के अनुसार महापौर पद के लिए कांग्रेस हाईकमान से घोषित प्रत्याशी को ही विजयी बनाने और क्रास वोटिंग न करने की अपील की। सभी कांग्रेस पार्षदों ने क्रास वोटिंग न करने और पार्टी के प्रति निष्ठावान रहने का वादा किया है।

कांग्रेस सूत्रों के अनुसार दुर्ग में हो रही लामबंदी के तरीके को लेकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कई वरिष्ठ नेता नाराज बताए जा रहे हैं। प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में कांग्रेस पार्षदों ने हाईकमान के निर्देश का पालन किया। लेकिन दुर्ग नगर निगम में हो रही लामबंदी से कांग्रेस नेतृत्व में नाराजगी है। आपको बता दें कि पर्यवेक्षक धनेंद्र साहू के सामने ज्यादातर पार्षदों ने प्रत्याशी चयन करने कांग्रेस हाईकमान को अधिकृत किया था। इसके बावजूद चार दावेदारों ने महापौर पद के लिए लामबंदी शुरू कर दी। विधायक अरूण वोरा को बताए बिना ही चारों दावेदार दिल्ली रवाना हो गए।

कांग्रेस में संभावित डैमेज कंट्रोल को रोकने के लिए शनिवार को एआईसीसी मेंबर शानू वोरा ने रायपुर से दुर्ग आकर लामबंदी करने वाले चारों दावेदारों को चर्चा के लिए बुलाया था। बातचीत के दौरान उन्होंने मानमनौव्वल का प्रयास किया, लेकिन बात नहीं बनी। सूत्र बता रहे हैं कि सभी दावेदार किसी वरिष्ठ पार्षद को ही महापौर बनाने के लिए अड़े रहे। इसमें से अब्दुल गनी और राजकुमार नारायणी काफी हद तक शानू वोरा की समझाईश से सहमत दिखे लेकिन मदन जैन अपनी बात पर डटे रहे। शानू वोरा से मुलाकात करने आरएन वर्मा वोरा निवास पहुंचे लेकिन उन्होंने महापौर पद के प्रत्याशी को लेकर कोई बातचीत नहीं की। वर्मा अपनी पत्नी सत्यवती वर्मा को महापौर प्रत्याशी घोषित करने के लिए दावेदारी कर रहे हैं।)

 रायपुर के पास एक होटल में रहेंगे कांग्रेस पार्षद, चुनाव से ठीक पहले आएंगे

अंदरखाने से मिल रही खबरों के अनुसार सभी कांग्रेस पार्षदों को बैठक के बाद आज रायपुर ले जाने की तैयारी चल रही है। उन्हें रायपुर के पास एक होटल में ठहराया जाएगा। क्रास वोटिंग से बचने कांग्रेस पार्षदों को महापौर चुनाव से पहले होने वाली नगर निगम के पहले सम्मिलन से ठीक पहले दुर्ग लाया जाएगा। इस दौरान रायपुर के होटल में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पार्षदों को समझाईश देंगे। पार्टी से बगावत न करने और महापौर के लिए कांग्रेस के घोषित प्रत्याशी को ही वोट देने की समझाईश दी जाएगी।