Breaking News

Top News

20 साल बाद दुर्ग नगर निगम में कांग्रेस का कब्जा, कांग्रेस नेताओं की कुशल रणनीति से जीता महापौर-सभापति का चुनाव

Share Now

दुर्ग के महापौर बने धीरज बाकलीवाल, राजेश यादव बने नगर निगम के सभापति   

अपील समिति के 4 सदस्यों के चुनाव में कांग्रेस-भाजपा-जनता कांग्रेस, निर्दलीय पार्षदों के हिस्से में आई एक-एक सीट, सभी निर्विरोध चुने गए    

 

सीजी न्यूज डॉ़ट कॉम

नगर निगम के महापौर और सभापति चुनाव को लेकर एक हफ्ते से जबर्दस्त उठापटक चल रही थी। कांग्रेस में बगावत के सुर गूंजने लगे थे। दिल्ली तक लाबिंग की गई लेकिन अंतिम दो दिनों में कांग्रेस ने न सिर्फ जबर्दस्त रणनीति बनाते हुए संभावित नुकसान से बचने की सभी तैयारियां कर ली। कल रायपुर में केबिनेट मंत्री मोहम्मद अकबर, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम, महासचिव गिरीश देवांगन, दुर्ग नगर निगम के लिए कांग्रेस पर्यवेक्षक धनेंद्र साहू सहित अन्य कांग्रेस नेताओं ने लाबिंग करने वाले नेताओं को समझाईश दी।

कांग्रेस हाईकमान समेत मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप कांग्रेस के घोषित प्रत्याशी को ही विजयी बनाने की अपील की। आज सुबह 10 बजे सभी कांग्रेस पार्षद रायपुर से दुर्ग लौटे। कुशाभाऊ ठाकरे भवन में शपथ ग्रहण समारोह के बाद मतदान की प्रक्रिया शुरू हुई जिसमें कांग्रेस ने जबर्दस्त जीत दर्ज की। चुनाव प्रक्रिया के दौरान गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, कांग्रेस विधायक अरूण वोरा, वरिष्ठ नेता प्रदीप चौबे, एआईसीसी मेंबर शानू वोरा, सीजू एंथोनी, बृजमोहन सिंह, अलताफ अहमद, राधेश्याम शर्मा सहित अन्य कांग्रेस नेता डटे रहे। नतीजे घोषित होने के बाद जश्न का माहौल शुरू हो गया।

दुर्ग नगर निगम के महापौर चुनाव में कांग्रेस के धीरज बाकलीवाल ने शानदार जीत दर्ज की। उन्होंने भाजपा के महापौर प्रत्याशी नरेंद्र बंजारे को 20 वोट से हरा दिया। नगर निगम में 60 में से 30 कांग्रेस पार्षदों के अलावा 1 निर्दलीय पार्षद ने पहले से ही समर्थन की घोषणा कर दी थी। कांग्रेस ने जबर्दस्त लाबिंग करते हुए 9 निर्दलीय पार्षदों का समर्थन जुटा लिया। नरेंद्र बंजारे को सिर्फ 20 वोट ही मिले।

सभापति चुनाव में सिर्फ एक निर्दलीय पार्षद समेत कांग्रेस पार्षदों के वोट से कांग्रेस प्रत्याशी राजेश यादव को 31 मत मिले। उनके खिलाफ भाजपा पार्षद अजय वर्मा और निर्दलीय पार्षद मीना सिंह ने नामांकन दाखिल किया था। अजय वर्मा ने नामांकन वापस ले लिया। भाजपा और निर्दलीय पार्षदों की एकजुटता से उन्हें 29 वोट मिले। इस तरह राजेश यादव ने 2 वोट से जीत हासिल की।

अपील समिति के चार सदस्यों के चुनाव में मतदान की नौबत नहीं आई। कुल चार पार्षदों ने नामांकन जमा किया था और चारों निर्विरोध चुने गए। चुने गए सदस्यों में कांग्रेस के मनीष बघेल, भाजपा के नरेश तेजवानी, जनता कांग्रेस के प्रकाश जोशी और निर्दलीय कविता तांडी शामिल हैं।