Breaking News

Top News

कांग्रेस ने इंकम टैक्स विभाग के छापों को लेकर फिर बोला तीखा हमला, रमन सरकार के समय हवाला से बेनामी खातों में जमा किए गए बड़ी रकम का खुलासा हुआ, भूपेश सरकार को बदनाम करने की नीयत का पर्दाफाश

Share Now

  • कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेष नितिन त्रिवेदी ने भाजपा पर करारा प्रहार किया
  • छापामार कार्रवाई के बाद इंकम टैक्स विभाग की प्रेस विज्ञप्ति जारी होने पर भाजपा को माफी मांगने कहा
  • नोटबंदी के समय बेनामी खातों में जमा रकम के सबूत मिले, भाजपा सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोपों की पुष्टि हुई   

सीजी न्यूज डॉट कॉम 

कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने छत्तीसगढ़ में छापों के बाद आयकर विभाग के प्रेस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि आयकर विभाग की कार्यवाही जिन उद्देश्यों से की गई थी, उसे प्राप्त करने में पूरी तरह विफल रही है। त्रिवेदी ने कहा है कि छापों के बाद आयकर विभाग द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में नोटबंदी के समय जमा की गई राशि का उल्लेख है। उस समय तो छत्तीसगढ़ में भाजपा की रमन सिंह की सरकार थी उस दौरान जमा की गई किसी भी रकम के लिए भारतीय जनता पार्टी की तत्कालीन भ्रष्ट सरकार ही उत्तरदायी है।

कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि 15 लोगों के 36 ठिकानों पर छापे मारे गए। इसमें किस व्यक्ति से और किस ठिकाने से क्या जब्त हुआ? इसका स्पष्ट खुलासा आयकर विभाग को करना चाहिए था। लेकिन आयकर विभाग के छापों के बाद जारी विज्ञप्ति में ऐसा कोई खुलासा ना होना इस बात को स्पष्ट उजागर करता है कि इन छापों में आयकर विभाग कोई उपलब्धि नहीं मिल पाई।

शैलेश ने आगे कहा कि नोटबंदी के समय भ्रष्टाचार की रकम का बेनामी खातों में जमा होने का उल्लेख होना इस बात का जीता जागता सबूत है कि रमन सिंह सरकार में जमकर भ्रष्टाचार हुआ था। पिछली रमन सिंह सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप कांग्रेस लगाती रही है। कांग्रेस के आरोपों पर आयकर विभाग ने अपनी मुहर लगा दी है। त्रिवेदी ने कहा है कि इस विज्ञप्ति में किसी भी प्रकार के कोई तथ्य सामने नहीं आए हैं। यह विज्ञप्ति छापों की पूरी कार्यवाही की तरह ही फर्जी है।

कांग्रेस पार्टी केंद्र की भाजपा सरकार और छत्तीसगढ़ के भाजपा नेताओं द्वारा केंद्रीय एजेंसियों के माध्यम से रची गई साजिश के बेनकाब होने पर मांग करती है कि भाजपा अब छत्तीसगढ़ की जनता से क्षमा याचना करें। छापों की पूरी कार्यवाही के दौरान भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रमन सिंह और राम विचार नेताम ने जिस तरीके से छापों में रकम को लेकर बयानबाजी करते हुए आयकर विभाग के प्रवक्ता की भूमिका निभाई थी, उससे स्पष्ट है कि यह दोनों भाजपा नेता भी इस साजिश का एक हिस्सा थे।

यह स्पष्ट हो गया है कि आयकर विभाग के छापे छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने और कांग्रेस सरकार के मुखिया किसान पुत्र भूपेश बघेल की प्रतिष्ठा को प्रभावित करने के उद्देश्य से मारे गए थे। कांग्रेस पार्टी यह मांग करती है कि आयकर विभाग किस व्यक्ति से क्या राशि जप्त हुई है इसका खुलासा तत्काल करें।