Breaking News

Top News

प्रशिक्षु आईएएस अफसरों को सीएम ने दिए टिप्स, ज्यादा से ज्यादा फील्ड विजिट की नसीहत

Share Now

47AD3EC31CA19B704C8FF5830263B0E6

सीजी न्यूज रिपोर्टर। रायपुर

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को प्रशिक्षु आईएएस अफसरों को फील्ड में ज्यादा से ज्यादा रहने की नसीहत दी है। सीएम आवास में मुख्यमंत्री से सौजन्य भेंट करने पहुंचे प्रशिक्षु आईएएस अफसरों को सुराजी गांवों की जानकारी देते हुए सीएम ने कहा कि फील्ड में ज्यादा से ज्यादा रहने से प्रशासनिक कामकाज में कई नए सबक मिलते हैं। समस्याओं की जानकारी के साथ समाधान का तरीका निकालने में आसानी होती है।

सीएम ने युवा अफसरों को सुराजी गांव योजना की थीम बताई। योजना के हर प्रोजेक्ट को मॉडल बनाकर बेहतर काम कराने कहा। नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी के विकास और संवर्धन पर विस्तार से जानकारी दी। सुराजी गांवों के बारे में सीएम ने कहा कि इस योजना से गांवों की अर्थव्यवस्था सुधरेगी। खेती, किसानी में सुधार के साथ रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

इससे पर्यावरण में सुधार आएगा। गांव के लोगों को  बाड़ी से सब्जी और दुग्ध उत्पादन से कुपोषण कम करने में मदद मिलेगी। घुरवा से जैविक खेती को बढ़ावा मिलेगा। सीएम ने कहा कि नरवा यानी नाला के पुनर्जीवन के लिए साइंटिफिक तरीके से काम होना चाहिए। इसरो ने भूमि से सबंधित डाटा उपलब्ध कराया है। इसका उपयोग होना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नरवा के पुनर्जीवन से सरफेस वाटर, अंडर ग्राउंड वाटर लेवल सुधरेगा। नदी का प्रवाह ज्यादा दिनों तक बना रहेगा। आसपास के हैंडपंप सूखने की स्थिति नहीं रहेगी। उन्होंने रेन वाटर हार्वेस्टिंग के महत्व पर भी विस्तार से चर्चा की। सुराजी गांवों में नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी योजना के तहत गौठान के विकास, चारागाह विकास, दुग्ध उत्पादन, जैविक खाद तैयार करने से ग्रामीण अर्थ व्यवस्था में सकारात्मक बदलाव आने की जानकारी दी।

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी में आईएएस के प्रशिक्षु अफसरों (2018 बैच) का उन्मुखीकरण चल रहा है। प्रशिक्षु अफसर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से सौजन्य भेंट करने आए थे। इस दौरान प्रभारी मुख्य सचिव सीके खेतान, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी, छत्तीसगढ़ प्रशासनिक अकादमी की डीजी रेणु पिल्लई, संचालक आलोक अवस्थी, सहायक कलेक्टर अभिषेक शर्मा, अविनाश मिश्रा, देवेश कुमार ध्रुव, संबित मिश्रा, उत्साह चौधरी उपस्थित थे।