Breaking News

सभी शहरों के पास बनेंगे सिटी फॉरेस्ट, दुर्ग में 20 एकड़ एरिया में बनेगी बापू वाटिका, वाकिंग ट्रेल भी बनेगा, गौठान, चारागाह, गार्डन में जनभागीदारी से होगा वृक्षारोपण

सीजी न्यूज रिपोर्टर

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग और वन विभाग के अपर मुख्य सचिव आरपी मंडल ने शहरों के आसपास सिटी फारेस्ट बनाने के निर्देश दिए हैं। शहर के आसपास 10-15 एकड़ जमीन चिन्हित कर सिटी फारेस्ट बनाया जाएगा। सभी शहरों में 2 अक्टूबर तक सिटी फारेस्ट बनकर तैयार हो जाएंगे। सिटी फारेस्ट को गांधी ऑक्सी टाउन के नाम से जाना जाएगा। दुर्ग और रायपुर संभाग में कलेक्टर्स कांफ्रेंस के दौरान मंडल ने अफसरों को प्लांटेशन का काम जन आंदोलन के रूप में करने कहा।

कलेक्टर की लीडरशिप में टेक्निकल स्टॉफ के मार्गदर्शन में पौधरोपण करने के निर्देश दिए। उन्होंने निशुल्क पौधरोपण के लिए घर पहुंच पौधा सेवा को प्रमोट करने और नदियों के किनारे प्लांटेशन पर जोर दिया। दुर्ग में हुई कांफ्रेंस में बताया गया कि दुर्ग शहर में 20 एकड़ एरिया का सिटी फारेस्ट बनाया जाएगा। इसका नाम बापू वाटिका होगा। वॉकिंग ट्रेल भी बनाया जाएगा।

मंडल ने प्रदेश सरकार की सुराजी गांव योजना के तहत निर्मित गौठानों, चारागाहों, खाली पड़े शासकीय पैच सहित नगरीय क्षेत्रों के सभी उद्यानों में चालू मानसून सत्र के दौरान जनसहभागिता के साथ सघन वृक्षारोपण करने के निर्देश दिए। पौधरोपण के साथ पेड़ों की सुरक्षा को जरूरी बताते हुए अपर मुख्य सचिव ने कहा कि हर गौठान में कम से कम 400 पौधे और हर चारागाह में कम से कम 2000 पेड़ लगाए जाएं। लगाए गए हर पेड़ को जीवित रखने सतत मॉनिटरिंग करने के निर्देश भी दिए।

नरवा का ट्रीटमेंट ऐसा हो कि रहे सालभर पानी

मंडल ने कहा कि नरवा विकास योजना के तहत वैज्ञानिक तरीके से नालों का ट्रीटमेंट कर उसे उस क्षेत्र में खेती के लिए सिंचाई और जलस्तर बढ़ाने के लिये लाभदायक बनाया जाएगा। नाले की चयन प्रक्रिया, बेस लाइन सर्वे, ट्रीटमेंट एरिया का चिन्हांकन के संबंध में प्रेजेंटेंशन भी दिया गया।

दुर्ग में इस फोन नंबर पर फोन करो, मिलेंगे निशुल्क पौधे

इधर, दुर्ग वन मंडल के अफसरों ने बताया कि पौधारोपण को बढ़ावा देने फोन करने पर नागरिकों को निशुल्क पौधे उपलब्ध कराने विशेष वाहनों की व्यवस्था की है। नागरिकों को निशुल्क गुलमोहर, करंज, शिशु, अमलतास, टिकोमा, गौरी, केसिया, सामिया, नीम, मौलश्री, पारिजात, नीबू, पुत्रनजीवा, एलोवेरा, गिलोय, आंवला, पारसपीपल और मुनगा प्रजाति के पौधे उपलब्ध कराए  जाएंगे। नागरिक मोबाइल नंबर 94076-10884, 77468-24555 और 94060-91336 पर कॉल कर पौधे प्राप्त कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

स्टीकर लगे फलों की बिक्री, स्टोरेज पर प्रतिबंध

खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग ने राज्य में स्टीकर लगे फलों की बिक्री पर प्रतिबंध ...