Breaking News

Top News

नई सरकार का गुड गवर्नेंस ऐसा कि नवजात बच्चों के बनने लगे जाति प्रमाण पत्र, सुबह आवेदन करो तो शाम को मिल जाता है इंकम सर्टिफिकेट

Share Now

कोरबा जिले के करतला ब्लॉक के पठियापाली गांव निवासी अनिल कंवर की एक माह की बेटी प्रनिधि कंवर का स्थाई जाति प्रमाण पत्र स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह टेकाम ने प्रदान किया। 

सीजी न्यूज रिपोर्टर

6 महीने पहले तक आम लोगों को इंकम सर्टिफिकेट, बर्थ सर्टिफिकेट, कास्ट सर्टिफिकेट जैसे दस्तावेज जुटाने के लिए कई हफ्ते तक तहसील आफिस, कलेक्टोरेट या लोक सेवा केंद्रों में चक्कर काटना पड़ता था। नई सरकार के फरमान के बाद अब वही काम महज चंद घंटों में हो रहा है। लोक सेवा गारंटी अधिनियम लागू होने के बावजूद राज्य में सरकारी काम में लेटलतीफी आम समस्या थी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के कड़े फरमान के बाद लोगों को लेटलतीफी से राहत मिल रही है।

पिछली सरकार के कार्यकाल में जाति प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र सहित अन्य दस्तावेजों के लिए समयसीमा तय होने के बावजूद किसी भी सरकारी दफ्तर में इसका पालन नहीं हो रहा था। लोक सेवा केंद्रों में पेंडिंग आवेदनों की संख्या हजारों में थी। नौकरी के लिए आवेदन पत्र जमा करने से लेकर बच्चों के एडमिशन, स्कॉलरशिप के लिए आवेदन जमा करने इन दस्तावेजों का होना अनिवार्य होने के बावजूद लोगों को कई दिनों तक भटकना पड़ता था। अक्सर ज्यादा शुल्क लेने की शिकायतें भी रही।

भूपेश सरकार के कड़े निर्देश का असर ये हुआ है कि बलरामपुर के कलेक्टर संजीव झा ने बच्चों के जन्म के साथ ही जाति प्रमाण पत्र देने की योजना शुरू की। जिला चिकित्सालय में भनौरा गांव निवासी संतोष गुप्ता और माता मनीषा गुप्ता के नवजात बच्चे स्वर्ण गुप्ता के जन्म के महज 12 दिनों बाद ही जन्म प्रमाण पत्र और जाति प्रमाण पत्र प्रदान कर दिया। कोरबा जिले की दूधमुंही बच्ची प्रनिधि को सिर्फ एक माह की आयु में ही स्थायी जाति प्रमाण पत्र बनाकर दे दिया गया। प्रनिधि के पिता अनिल कंवर ने बताया कि उनका जाति प्रमाण पत्र कोर्ट-कचहरी के चक्कर काटने और काफी पैसा खर्च करने के बाद ही बन पाया था। उनकी 1 माह की बेटी का स्थाई जाति प्रमाण पत्र आसानी से बनने से समय, पैसे और चक्कर काटने के तनाव से मुक्ति मिल गई। ग्रामीण रमेश कंवर के 6 माह के बेटे दीपांशु का स्थाई जाति प्रमाण पत्र भी बनाकर दिया गया है।

बिलासपुर के सरकंडा निवासी जय कुमार रजक को आय प्रमाण पत्र उसी दिन मिल गया जिस दिन उन्होंने आवेदन किया। बीए द्वितीय वर्ष के छात्र जय ने बताया कि आवेदन करने पर कई बार कम से कम दो-तीन महीने लग जाते हैं। नई कम्पोजिट बिल्डिंग स्थित लोक सेवा केंद्र में उन्होंने हाल ही में सुबह आय प्रमाण पत्र बनाने आवेदन किया। शाम को मोबाईल पर मैसेज आया कि आय प्रमाण पत्र बन गया है। लोक सेवा गारंटी अधिनियम के कार्यों की लगातार मॉनिटरिंग करने से यह संभव हुआ। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल धन्यवाद और बधाई के पात्र हैं।

जरहाभाटा निवासी विजय कुमार कश्यप ने निवास प्रमाण पत्र के लिए लोक सेवा केंद्र में आवेदन किया और एक सप्ताह के अंदर उन्हें निवास प्रमाण पत्र मिल गया। श्रेयस कश्यप ने जाति और आय प्रमाण पत्र के लिये आवेदन किया तो उसे तीन दिन में आय प्रमाण पत्र और एक सप्ताह में अस्थाई जाति प्रमाण पत्र मिल गया है। प्रदेश के सभी जिलों में बच्चों के जन्म के चंद घटे बाद ही उनके बर्थ सर्टिफिकेट दिए जा रहे हैं।