Breaking News

Top News

गांवों के साथ शहर में भी मची हरेली की धूम, पोटिया, पुलगांव सहित कई वार्डों में लोगों ने मनाया हरेली तिहार

Share Now

सीजी न्यूज रिपोर्टर

छत्तीसगढ़ की सांस्कृतिक पहचान बनाने के लिए प्रदेश सरकार ने इस साल हरेली पर्व पर रंगारंग कार्यक्रम किए। प्रदेश के कोने-कोने में बसे गांवों में हरेली पर्व की धूम मची। गांवों के साथ शहरी इलाकों में भी हरेली पर्व पर रंगारंग कार्यक्रम हुए। दुर्ग शहर में नगर निगम ने पोटिया में कार्यक्रम आयोजित किया। मध्य ब्लॉक कांग्रेस कमेटी ने हरेली के अवसर पर पुलगांव वार्ड में त्योहार मनाया। यहां हरेली तिहार के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि विधायक अरुण वोरा, शहर जिला कांग्रेस अध्यक्ष आरएन वर्मा, पूर्व विधायक प्रतिमा चंद्राकर उपस्थित थे।

कार्यक्रम के प्रारंभ में विधायक सहित अन्य अतिथियों ने खेती के लिए उपयोगी कृषि यंत्रों हल, रापा-कुदाली सहित अन्य कृषि यंत्रों की पूजा अर्चना की। इसके बाद महिलाओं, पुरुषों, बालक-बालिकाओं के अलग अलग वर्गों में फुगड़ी, चम्मच गोली दौड़, गेड़ी दौड़, मटका फोड़, कुर्सी दौड़ प्रतियोगिता हुई जिसमें सभी वर्गों के लोग हर्षोल्लास से शामिल हुए। अतिथियों सहित स्थानीय नागरिकों ने छत्तीसगढ़ी व्यंजनों के स्टॉलों में ठेठरी, खुरमी का स्वाद लिया।

प्रतियोगिता में विजयी प्रतिभागियों को वोरा ने पुरस्कृत किया। कार्यक्रम में वरिष्ठ कांग्रेस नेता मदन जैन, कमल रुंगटा, शंकर लाल ताम्रकार राधेश्याम शर्मा, मध्य ब्लॉक कांग्रेस के अध्यक्ष अल्ताफ अहमद, सीजू एन्थोनी विशेष रूप से उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन पुलगांव के वार्ड पार्षद सुरेंद्र सिंह राजपूत ने किया। कार्यक्रम में अनीता तिवारी, कौशल किशोर सिंह, रत्ना नारमदेव, ब्लाक अध्यक्ष अजय मिश्रा, राजकुमार पाली, सुशील भारद्वाज, राजकुमार साहू, कुणाल तिवारी, अशोक मेहरा, देवेश मिश्रा, अनूप वर्मा, अंशुल पांडे, संदीप श्रीवास्तव सहित सैकड़ों वार्डवासी मौजूद थे। इसके अलावा उरला, चंडी मंदिर वार्ड सहित अन्य इलाकों में भी हरेली पर्व मनाया गया।

छत्तीसगढ़ की संस्कृति बचाने में मददगार बनेगा हरेली तिहार

मुख्य अतिथि अरुण वोरा ने उपस्थितजनों को हरेली की बधाई देते हुए कहा कि इस आयोजन से छत्तीसगढ़ की सांस्कृतिक परंपराओं को बचाने में मदद मिलेगी। किसानों को छत्तीसगढ़ के विकास में सहभागी बनाने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किसानों समेत आम जनता के लिए काफी कम समय में जनकल्याणकारी किए हैं। भूपेश सरकार के फैसले से आम जनता को लाभ मिल रहा है। भविष्य में भी राज्य सरकार जनहित में महत्वपूर्ण फैसले लेगी और जनता के हितों का ध्यान रखेगी।