Breaking News

Top News

विधायक के कड़े तेवरों के बाद जिला अस्पताल की व्यवस्था सुधरी, नए चाइल्ड हास्पिटल की शिफ्टिंग का काम पूरा

Share Now

सीजी न्यूज रिपोर्टर

पखवाड़े भर पहले मैटरनिटी वार्ड की अव्यवस्था देख कर नाराज हुए विधायक अरुण वोरा के कड़े तेवरों के बाद अस्पताल प्रबंधन ने व्यवस्था सुधार ली है। वोरा ने 15 दिनों के भीतर पूरी व्यवस्था सुधारने का अल्टीमेटम दिया था। अल्टीमेटम की अवधि पूरी होने पर उन्होंने दोबारा जिला अस्पताल का निरीक्षण किया। वोरा ने नवनिर्मित 100 बिस्तर मातृ शिशु अस्पताल में शिफ्ट किए गए मरीजों का हाल चाल पूछा।

सीएमएचओ डॉ गंभीर सिंह ठाकुर और सिविल सर्जन डॉ केके जैन के साथ वोरा ने नए अस्पताल भवन में मेटरनिटी वार्ड, शिशु भर्ती वार्ड की व्यवस्था के साथ गर्भवती माताओं और शिशुओं को मिलने वाली सुविधाओं का भी जायजा लिया। उन्होंने ओपीडी के रेनोवेशन कार्य का निरीक्षण भी किया। साफ सफाई सहित अन्य व्यवस्थाओं से विधायक संतुष्ट नजर आए। वोरा ने कहा कि जिला अस्पताल को अगले बजट सत्र से चिकित्सा महाविद्यालय का दर्जा दिलाने स्वास्थ्य मंत्री से चर्चा की गई है।

इससे पहले यह जरूरी है कि यहां आने वाले मरीजों को निजी अस्पताल से भी बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराई जाए। कोई भी मरीज यहां से निराश या परेशान होकर ना लौटे । वोरा ने अधिकारियों को ओपीडी का संधारण कार्य हफ्ते भर में पूरा करने का निर्देश भी दिया। वोरा ने कहा कि 15 अगस्त तक इसका लोकार्पण कर जनता को समर्पित कराया जाएगा। ताकि लोगों को साफ सुथरे माहौल में स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराई जा सके। उन्होंने दंत विभाग, दवाइयों के स्टॉक और महिला सर्जिकल वार्ड की व्यवस्था का जायजा भी लिया।

डोम और ट्यूबलर पोल के लिए 25 लाख दिए

विधायक वोरा ने जिला अस्पताल में मरीजों के साथ आए परिजनों की सुविधा के लिए परिसर में भव्य डोम का निर्माण करने 15 लाख रुपए और आसपास प्रकाश व्यवस्था बेहतर करने के लिए ट्यूबलर पोल लगाने 10 लाख रुपए की राशि स्वीकृत की है। यह राशि राज्यसभा सांसद मोतीलाल वोरा की निधि से मिलेगी। तत्काल राशि स्वीकृत करने पर डॉक्टरों ने वोरा को धन्यवाद ज्ञापित किया।