Breaking News

Top News

मैनपाट में टाईगर पाइंट, मछली पाइंट, उल्टा पानी, जलजली, मेहता पाइंट जैसे मनोरम दर्शनीय स्थल, अब विकसित होंगे चाय के बागान

Share Now

छत्तीसगढ़ शासन के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री अमरजीत भगत ने आज मैनपाट जनपद के बरिमा में पौधारोपण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि मैनपाट अपने हरे-भरे वनों, नदियों और झरनों के लिए जाना जाता है। जशपुर जिले में चाय बगान विकसित किया गया है। इसी तर्ज पर मैनपाट में भी शीतल जलवायु होने के कारण यहां चाय की खेती हो सकती है। मैनपाट में लगभग 4-5 एकड़ में चाय की खेती की शुरूआत की जा सकती है।

भगत ने जिला प्रशासन एवं वन विभाग के अधिकारियों को इसी मौसम में चाय की खेती की शुरू करने कहा। खाद्य मंत्री ने कहा कि मैनपाट में टाईगर प्वांईट, मछली प्वांईट, उल्टा पानी, जलजली, मेहता प्वांईट जैसे अत्यंत मनोरम दर्शनीय स्थल है। यह महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल हैं। पर्यटकों को इन स्थानों पर मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने पेयजल और शौचालय निर्माण जरूरी है। इन स्थानों पर महिला स्वं सहायता समूहों के माध्यम से स्वल्पाहार की व्यवस्था भी होना चाहिए, ताकि पर्यटकों को बेहतर सुविधा मिल सके।