Breaking News

Top News

मनरेगा से रोजगार देने के मामले में छत्तीसगढ़ देश में चौथे नंबर पर, चार माह में लक्ष्य से 102 प्रतिशत रोजगार दिया

Share Now

मनरेगा योजना से रोजगार देने के मामले में छत्तीसगढ़ देश में चौथे स्थान पर है। छत्तीसगढ़ ने चालू वित्तीय वर्ष 2019-20 में यह रैंकिंग हासिल की है। पिछले चार महीनों अप्रैल से जुलाई के बीच 651.3 लाख मानव दिवस रोजगार दिया गया।  चालू वित्तीय वर्ष में जुलाई तक 638.77 लाख मानव दिवस रोजगार का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। यानी मनरेगा से रोजगार देने के मामले में छत्तीसगढ़ राज्य ने 102 प्रतिशत उपलब्धि हासिल की है।

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंहदेव ने इस उपलब्धि के लिए मनरेगा योजना का क्रियान्वयन करने वाले अधिकारी-कर्मचारियों के अलावा विभागीय अधिकारियों को बधाई देते हुए तारीफ की है। बता दें कि भारत सरकार ने इस साल छत्तीसगढ़ के लिए मनरेगा के तहत 13 करोड़ मानव दिवस रोजगार की मंजूरी दी गई है। मनरेगा कार्यों की तेजी को देखते हुए पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने इसे बढ़ाने का प्रस्ताव भारत सरकार को भेजा है।

केन्द्र सरकार ने मनरेगा के जुलाई तक के कार्यों के आंकड़े वेबसाइट पर जारी किए हैं। लक्ष्य के अनुसार कार्य पूर्णता के मामले में केरल पहले, पंजाब दूसरे और असम तीसरे स्थान पर है। इसी तरह कार्य समाप्ति के बाद समयबद्ध मजदूरी भुगतान की प्रक्रिया में छत्तीसगढ़ देश में पांचवे स्थान पर है। जुलाई तक 92.06 प्रतिशत श्रमिकों के मजदूरी भुगतान के लिए फण्ड ट्रांसफर ऑर्डर हस्ताक्षरित कर भारत सरकार को भेज दिया गया। इस मामले में झारखंड पहले, उत्तराखंड दूसरे, केरल तीसरे और मिजोरम चौथे स्थान पर है।