Breaking News

Top News

विश्व आदिवासी दिवस पर राजधानी में राज्य स्तरीय कार्यक्रम, मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी

Share Now

कल 9 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस मनाया जाएगा। राजधानी रायपुर सहित प्रदेश केसभी जिलो में विश्व आदिवासी दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आदिवासी समाज के नागरिकों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। मुख्यमंत्री ने बधाई संदेश में कहा है कि हमने आदिवासी समाज का विश्वास जीतने और उनके सपनों और आशाओं को पूरा करने का अभियान शुरू कर दिया है। प्रदेश सरकार ने आदिवासी समाज के हित में कई अहम फैसले लिए हैं।

भूपेश ने कहा कि पिछले 6 माह में आदिवासी अंचलों में एक ठोस मुकाम पर पहुंचे हैं। भविष्य में आदिवासी अंचल में ऐसे काम तेजी से करेंगे जिससे उनकी जिंदगी सरल हो और वे सरकार की विकास योजनाओं और कार्यक्रमों में भागीदारी निभाते हुए राज्य और राष्ट्र की मुख्यधारा में अपने आप को सम्मान के साथ जुड़ा महसूस कर सकें। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में विश्व आदिवासी दिवस पर सामान्य अवकाश घोषित होने से आदिवासी समाज की वर्षों पुरानी मांग पूरी हुई है। छत्तीसगढ़ जनजाति बाहुल्य प्रदेश है। राज्य की कुल आबादी का 32 प्रतिशत हिस्सा आदिवासी समाज का है। देश और प्रदेश के विकास में आदिवासी समाज की महत्वपूर्ण भागीदारी है।

राजधानी में राज्य स्तरीय कार्यक्रम

विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर राज्य स्तरीय कार्यक्रम रायपुर के सरदार बलबीर सिंह जुनेजा इंडोर स्टेडियम में होगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मुख्य आतिथ्य और अनुसूचित जाति एवं जनजाति मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम अध्यक्षता की अध्यक्षता में विश्व आदिवासी दिवस पर 9 अगस्त को सुबह 10 बजे से राज्य स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन होगा। कार्यक्रम में अति विशिष्ट अतिथि केंद्रीय जनजातीय कार्य राज्यमंत्री रेणुका सिंह, वाणिज्यकर (आबकारी) एवं उद्योग मंत्री कवासी लखमा, खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री अमरजीत भगत, महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेंड़िया और राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष नंदकुमार साय शामिल होंगे। सांसदगण, तीनों आदिवासी विकास प्राधिकरणों के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष सहित विधायकगण विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे। जनजातीय समाज में विद्यमान समस्याओं के निराकरण हेतु विश्व का ध्यान आकर्षित करने के लिए वर्ष 1994 में संयुक्त राष्ट्र संघ के महासभा द्वारा 9 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस घोषित किया गया था।