Breaking News

Top News

मिनीमाता स्मृति समारोह में गृह मंत्री बोले, औपचारिक शिक्षा के साथ बच्चों को संस्कार की शिक्षा पर विशेष जोर दें पालक

Share Now

प्रदेश के गृह, जेल, लोक निर्माण, पर्यटन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री ताम्रध्वज साहू ने पालकों से आह्वान करते हुए कहा कि वे अपने बच्चों को पाश्चात्य सभ्यता और संस्कृति, भौतिकतावादी जीवन से दूर रखें और उन्हें छत्तीसगढ़ी तथा भारतीय संस्कृति की शिक्षा दें। रायपुर के शहीद स्मारक भवन में आयोजित मिनीमाता स्मृति दिवस समारोह में मुख्य अतिथि की आसंदी से गृहमंत्री ने कहा कि मिनी माता की सोच, मानवता के प्रति संवेदनशील सिद्धांत और उनके बताए मार्ग पर चलने की थी। सभी पालकों को अपने पुत्र-पुत्रियों के प्रति समान भाव रखते हुए उन्हें शिक्षा और विकास का समान अधिकार और अवसर उपलब्ध कराना चाहिए।

कार्यक्रम में नगरीय प्रशासन एवं विकास, श्रम मंत्री शिव डहरिया, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण, संस्कृति, योजना, आर्थिक, सांख्यिकी मंत्री डॉ. अमरजीत सिंह भगत सहित अन्य जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक मौजूद थे। गृहमंत्री ने मिनीमाता के बताए मार्ग पर चलने और उनके समाज सेवा के कार्यों को अक्षुण्ण बनाए रखने के साथ सेवाभावी महिलाओं को सम्मानित करने की जरूरत पर जोर दिया। उन्होंने सतनामी समाज की मांगों को जायज ठहराते हुए कहा कि इन मांगों को पूरा करने सकारात्मक कार्रवाई की जाएगी।