Breaking News

Top News

शहर में अमृत मिशन योजना में लापरवाही से लोग हो रहे घायल, विधायक ने निगम अफसरों को दिखाए गड्‌ढे, साफ कहा, लापरवाही बर्दाश्त नहीं

Share Now

IMG-20190817-WA0015.jpg

सीजी न्यूज रिपोर्टर। दुर्ग

अमृत मिशन योजना का काम कर रही कंपनी की लापरवाही से रोज दुर्घटनाएं हो रही हैं। कंपनी की लापरवाही इस कदर है कि गड्‌ढा खोदने के महीनों बाद भी पाइपलाइन बिछाकर फिलिंग का काम नहीं हो रहा। हालत ये है कि लोग खोदे गए गड्‌ढे में गिरकर घायल हो रहे हैं। विधायक अरूण वोरा ने आज निगम अफसरों को जनता से जुड़ी समस्याएं दिखाई। वोरा ने निगम कमिश्नर और एक्जीक्यूटिव इंजीनियर को 3 घंटे तक शहर का भ्रमण कराया और अलग-अलग क्षेत्रों में कंपनी की लापरवाही गिनाई।

वोरा ने कहा कि अमृत मिशन योजना का टेंडर लेने वाली लक्ष्मी कंस्ट्रक्शन कंपनी ने 17 माह पहले काम शुरू किया। किसी भी वार्ड में समय पर काम नहीं किया गया। गड्ढे खोदने के बाद कंपनी ने महीनों तक काम लटकाए रखा। लोग इन ग़ड्‌ढों पर गिर रहे हैं। यातायात की समस्याओं से जूझ रहे हैं। जनता को होने वाली परेशानियां बताने पर नगर निगम का इंजीनियरिंग स्टॉफ ध्यान नहीं देता। वोरा ने साफ कहा कि अब कंपनी की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

वोरा के साथ निगम कमिश्नर व अन्य अफसर खोदे गए गड्‌ढे के कारण दुर्घटनाग्रस्त हुई महिला प्रेमा कुंजाम के घर भी पहुंचे। निगम कमिश्नर इंद्रजीत बर्मन ने विभागीय अफसरों को अमृत मिशन प्रोजेक्ट के सभी कार्य बेहतर प्लानिंग के साथ पूरा करने के निर्देश दिए। खोदे गए गढ्‌ढों को भरने का काम फौरन करने के साथ ही लेवलिंग करने के निर्देश दिए। वोरा ने निगम अफसरों को शहर की अन्य समस्याएं भी दिखाई।

मार्केट की समस्याएं बताई, व्यवसाइयों ने भी शिकायत की

40 साल पुराने इंदिरा मार्केट की दुकानों के अलावा यहां की अन्य समस्याएं दिखाते हुए वोरा ने कहा कि जर्जर मछली मार्केट, प्रेस कॉम्प्लेक्स, कुंआ, बोर, सड़क-नाली की गंभीर समस्याएं हैं। इस दौरान मार्केट के व्यवसाइयों ने विधायक और कमिश्नर से समस्याएं बताते हुए कहा कि कई दुकानों का छज्जा गिरने की घटनाएं लगातार होने के बावजूद निगम अफसर मेंटेनेंस पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। यहां कभी भी गंभीर दुर्घटना हो सकती है। इंदिरा मार्केट में चारों ओर फैली गदंगी निगम की सफाई व्यवस्था की पोल खोल रही है। पार्किंग स्थल पर बना पब्लिक टायलेट की साफ-सफाई नहीं हो रही। इससे वातावरण दूषित हो रहा है। यहां का वर्षों पुराना कुंआ प्लास्टिक कचरे से भरा है। वोरा ने निगम आयुक्त को 15 दिनों के अंदर समस्याओं का समाधान करने के निर्देश दिए। इस दौरान सभापति राजकुमार नारायणी, राजेश शर्मा, कन्या ढीमर, भोला महोबिया, राजकुमार वर्मा, प्रकाश गीते, शकुन ढीमर, अंशुल पांडेय, मनीष यादव, राजकुमार साहू, दिलीप बाकलीवाल, जगमोहन ढीमर, ललित ढीमर उपस्थित थे।