Breaking News

Top News

महमरा एनीकट में हादसा बह गया युवक, 18 घंटे बाद मिला शव, बचाव अभियान के दौरान वोरा दिन भर नदी तट पर डटे रहे

Share Now

सीजी न्यूज रिपोर्टर। दुर्ग

शनिवार की रात लगभग 11 बजे महमरा एनीकट में पैर फिसलने से बैजनाथपारा दुर्ग निवासी 22 वर्षीय युवक देवेंद्र वर्मा नदी में बह गया। देवेंद्र अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ महमरा घूमने आया था। देवेंद्र का पैर फिसलने के बाद उसे बचाने उसके मित्र कुणाल यादव भी नदी में कूद गया। कुणाल को आसपास के मछवारों ने सकुशल निकाल लिया। तब तक देवेंद्र काफी दूर बह गया था। 18 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद रविवार को शाम 5 बजे देवेंद्र का शव मिल गया है।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बरसात के दिनों में रपटे के दोनों ओर लगी सुरक्षा रेलिंग निकाल दिया जाता है। रेलिंग न होने के कारण युवक नदी में बह गया। उसे बचाने के लिए मछुआरों के अलावा जिला प्रशासन के बचाव दल लगातार 18 घंटे तक प्रयास करते रहे। दुर्घटना की खबर लगते ही विधायक अरुण वोरा मौके पर पहुंचे और दिन भर महमरा तट पर डटे रहे। उनके साथ निगम सभापति राजकुमार नारायणी, पार्षद शकुन ढीमर, अल्ताफ अहमद और अंशुल पांडेय भी घटनास्थल पर ही मौजूद थे।

वोरा ने कलेक्टर व एसपी से इस मामले को लेकर चर्चा की है। बारिश के दौरान ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकने के लिए बरसात तक महमरा एनीकट पर आवागमन बंद करने और 24 घंटे दोनों ओर जवानों की ड्यूटी लगाने की व्यवस्था सुनिश्चित करने कहा है। वोरा ने निगम आयुक्त इंद्रजीत बर्मन से महमरा एनीकट पर सुरक्षा उपाय और साफ सफाई सहित प्रकाश व्यवस्था करने कहा है।

वोरा ने कहा कि महमरा तट शहरवासियों के लिए पर्यटन स्थल है। यहां छुट्टी के दिन सैकड़ों लोग घूमने आते हैं। नगर निगम ने किसी भी तरह के सुरक्षा उपाय नहीं किए हैं। आए दिन होने वाली दुर्घटना की गंभीरता को देखते हुए एनीकट के दोनों ओर हाई मास्क लाइट और फिसलन से बचने के लिए नियमित सफाई कराने की जरूरत है। बता दें कि लगातार दुर्घटनाओं की शिकायतों के बाद विधायक वोरा ने एनीकट के आसपास सांसद मोतीलाल वोरा की निधि से रेलिंग का निर्माण कराया था।