Breaking News

Top News

सीएम और गृहमंत्री के गृह जिले के ग्रामीणों को पुलिस से न्याय नहीं मिला, शिकायत करने राजभवन पहुंचे, राज्यपाल ने डीजीपी को कार्रवाई करने कहा

Share Now

समाज के निचले तबके को न्याय न मिलने का मामला संवेदनशील – राज्यपाल

6A3A6068BE58BC3489E4A0F98CEE58C8सीजी न्यूज रिपोर्टर

दुर्ग जिले के सांकरा और सिरसाकला गांव से आए ग्रामीणों ने आज राजभवन पहुंचकर राज्यपाल अनसुइया उइके से पुलिस की शिकायत की। ग्रामीणों की समस्या सुनने के बाद राज्यपाल ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि मामले की जानकारी लेने के बाद दोषी लोगों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी। राज्यपाल ने कहा कि समाज के कमजोर वर्ग विशेषकर आदिवासी महिलाओं के साथ मारपीट करना संवेदनशील मामला है। ऐसे विषयों पर कार्यवाही की जाएगी और आवेदकों को न्याय दिलाया जाएगा।

राज्यपाल ने कहा कि समाज के निचले तबके का व्यक्ति पुलिस या अन्य अधिकारियों के सामने अपनी समस्या लेकर पहुंचे, तो उनकी बातों को संवेदनलशीलता से सुनकर समुचित कार्यवाही करना चाहिए। राज्यपाल ने डीजीपी को इन प्रकरणों पर आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि दुर्ग जिले के ग्राम सांकरा निवासी आदिवासी खूबचंद ठाकुर के परिवार के साथ मारपीट की गई। पीड़ित पक्ष जब थाने पहुंचा तो सामान्य धारा के तहत रिपोर्ट लिखी गई।

अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम की धारा के तहत प्रकरण दर्ज नहीं किया गया। न्यायालय में गवाह को प्रस्तुत नहीं किया गया। जिसके कारण आरोपी पर कार्यवाही नहीं हुई। प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि सिरसाकला की सावित्री ठाकुर और दिनेश ठाकुर के साथ मारपीट की घटना पर आज तक कार्यवाही नहीं हुई। थाना प्रभारी सहित पुलिस विभाग के उच्च अधिकारियों के सामने आवेदकों ने अपना पक्ष रखा लेकिन इसके बाद भी उन्हें न्याय नहीं मिला।

ग्रामीणों ने बताया कि उनके साथ जब कोई घटना होती है और वे शिकायत करने थाने पहुंचते हैं तो पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों का व्यवहार उनके प्रति अनुकूल नहीं होता है। कई बार तो ऐसा भी हुआ कि आरोपी के बजाय पीड़ित के खिलाफ ही कार्यवाही कर दी गई। राज्यपाल ने ग्रामीणों को उचित कार्रवाई करने और न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है।