Breaking News

Top News

मेडिकल स्टूडेंट्स से बोले स्वास्थ्य मंत्री, एक हफ्ते में अफसर काम न करें तो मुझे फोन करना

Share Now

04443F389A7E539440BDC4E08D89BB65.jpg

सीजी न्यूज रिपोर्टर

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, चिकित्सा शिक्षा मंत्री टीएस सिंहदेव ने बिलासपुर में सिम्स परिसर में विभागीय समीक्षा के बाद सिम्स के मेडिकल स्टूडेंट ने हॉस्टल की समस्याएं बताई। सिंहदेव ने पीडब्लूडी अफसरों को एक हफ्ते के भीतर हॉस्टल से संबंधित समस्याएं दूर करने के निर्देश दिए। उन्होंने छात्रों से कहा कि एक हफ्ते में आपकी समस्याएं नहीं सुलझाई जाती हैं तो मुझे फोन पर इसकी जानकारी दें। नर्सिंग स्टॉफ ने वार्डों में उनके लिये वॉशरूम ना होने की समस्या बताई। सिंहदेव ने डीन को तत्काल वॉशरूम बनवाने के निर्देश दिए।

स्वास्थ्य मंत्री ने आयुष्मान योजना के साथ अस्पतालों में स्वास्थ्य सुविधाओं पर चर्चा करते हुए कहा कि सरकारी अस्पताल में इलाज उपलब्ध होने के बावजूद अगर निजी अस्पतालों में मरीजों को रेफर किया गया तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि अस्पतालों में जिन दवाईयों की जरूरत है, उनकी मांग सीजीएमएससी से समय पर करें, ताकि आवश्यकता के समय दवाईयां उपलब्ध हो सके। दवा खरीदी के लिये सरकार के पास पर्याप्त राशि उपलब्ध है। किसी भी अस्पताल से दवा की कमी से संबंधित शिकायत नहीं आना चाहिए।

मौसमी बीमारियों से निबटने पहले से सभी जरूरी  तैयारियां करने और चिन्हित स्थानों पर स्वास्थ्य व जागरूकता शिविर आयोजित करने के निर्देश दिए। सिंहदेव ने आयुष्मान योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि सरकारी अस्पतालों में ज्यादा मरीज आने के बावजूद योजना के तहत कम संख्या में क्लेम किए जा रहे हैं। चिकित्सा अधिकारियों ने बताया कि पेपर वर्क ज्यादा होने और स्टॉफ कम होने के कारण क्लेम धीमी गति से हो रहे हैं। सिंहदेव ने क्लेम के पेपर वर्क के लिये नियुक्त करने के निर्देश दिए।

इससे कुछ लोगों को रोजगार भी मिलेगा और क्लेम भी मिल सकेगा। बैठक में बिलासपुर विधायक शैलेष पाण्डेय, तखतपुर विधायक रश्मि सिंह, संभागायुक्त भरतलाल बंजारे, बिलासपुर कलेक्टर डॉ.संजय अलंग, रायगढ़ कलेक्टर यशवंत कुमार, कोरबा कलेक्टर किरण कौशल, मुंगेली कलेक्टर सर्वेश्वर भूरे सहित संभाग के सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा अधिकारी मौजूद थे।