Breaking News

Top News

ढौर मे बना आदर्श गौठान…मवेशियों के लिए वरदान…

Share Now

5b89c983-630b-48d2-a323-a7c1e87c35b1

चारा-पानी के साथ मवेशियों को मिल रही हेल्थ चेकअप की सुविधा…पौधे रोपने के साथ यहां बायो फर्टिलाइजर निर्माण भी होने लगा

सीजी न्यूज रिपोर्टर। दुर्ग
ढौर मे बना आदर्श गौठान मवेशियों के लिए वरदान साबित हो रहा है। गौठान में मवेशियों को सभी प्रकार की सुविधाएं  उपलब्ध कराई गई हैं। चारे और पानी की बेहतर व्यवस्था के साथ यहां खुले स्थान पर रोज सैकड़ों मवेशी दिन भर रहते हैं। प्राकृतिक माहौल और खुली आबो हवा में रहने के कारण कमजोर और बीमार पशु भी स्वस्थ होने लगे हैं। यह सब छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी योजना नरूवा, गरूवा, घुरूवा, बाडी योजना के कारण संभव हुआ है। आपको बता दें कि पाटन विकास खंड के ढौर मे 6 एकड़ मे आदर्श गौठान का निर्माण हुआ है।

इस गौठान में गांव के 812 पशुओं को रखने की सभी व्यवस्थाएं की गई हैं। पशुओं को चारे की कमी न होने देने 8 एकड़ भूमि में चारागाह का निर्माण किया गया है। पशुओं को धूप, बारिश और अन्य प्रतिकूल मौसम से बचाने 1 पशु शेड का निर्माण किया गया है। पशुआंे के मल-मूत्र से जैविक खाद बनाने 12 नापेड टैंक और वर्मी कम्पोस्ट टैंक बनाए गए है। पशुओं को पानी पिलाने के लिए 6 बड़े-बड़े कोटना बनाए गए हैं। हर कोटना में कई पशु एक साथ आकर पानी पी सकते हैं।

dbd6867a-cf5f-4d7d-a13c-58f02c027fa8.jpg

727b861c-cacc-4a24-97fd-161609d48830.jpg

गौठान मे 500 पौधों का रोपण भी किया गया है। कालांतर में पेड़ बनने पर इनसे पशुओं को छाया मिलेगी। यहां पशुओं का नियमित स्वास्थ्य परीक्षण करने पशु चिकित्सकों की टीम आती है। मवेशी मालिकों को बीमारियों की जानकारी के साथ ही उपचार के तरीके और सुझाव भी दिए जाते हैं। गौठान में पशुओं का शत-प्रतिशत टीकाकरण किया गया है।  स्वास्थ्य परीक्षण के आधार पर दवाईयेां का वितरण भी हो चुका है। गौठान में रहने वाले 150 गाय दुधारू हैं। मवेशी मालिकों ने बताया कि गौठान में आने के बाद पशुओं मे दूध उत्पादन की क्षमता बढ़ी है जिससे पशु मालिकों की आमदनी बढ़ी है।