Breaking News

Top News

रावण की रिहाई की मांग, प्रदर्शन के बाद राष्ट्रपति के नाम कलेक्टर को दिया ज्ञापन

Share Now

61.jpg

सीजी न्यूज रिपोर्टर

भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर रावण की रिहाई की मांग को लेकर आज दुर्ग जिला मुख्यालय में प्रदर्शन किया गया। संत शिरोमणि रविदास का मंदिर तोड़ने के विरोध में दिल्ली में हुए प्रदर्शन के दौरान चंद्रशेखर को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था। अभी तक उन्हें रिहा नहीं किया गया है। उनकी रिहाई की मांग करते हुए भारतीय संविधान सुरक्षा समिति के सदस्यों ने कलेक्टोरेट में प्रदर्शन किया। इससे पहले भीम आर्मी ने भिलाई बंद का आयोजन भी किया।

तय कार्यक्रम के तहत संत रविदास समाज सेवा समिति के सदस्यों ने 6 सितंबर को दुर्ग के पुराने बस स्टैंड में सुबह 11 बजे से धरना प्रदर्शन शुरू किया। दोपहर 2 बजे तक चले प्रदर्शन के दौरान वक्ताओं ने चंद्रशेखर की तत्काल रिहाई की मांग की। सभा को संबोधित करते हुए संविधान सुरक्षा समिति के संयोजक मुकुन्द बन्सोड़ ने कहा है कि सभी संगठनों को एक होकर समाज की रक्षा के लिए अपने हक की लड़ाई लड़ना होगा। रविदास समिति ने चन्द्रशेखर को अविलंब रिहा करने कीमांग की।

प्रदर्शन के बाद कलेक्टर को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा गया। इस दौरान भारतीय संविधान सुरक्षा समिति के संयोजक मुकुंद बंसोड़, बृजेश खर्चे, रामराव, भीमराव कठाने, आनंद कनौजे, अजय पटले, उत्तम बघेल, गनेश ढांडेकर, विजय नांदेडकर, भोजराज मालाधारी, कमलदास, बिजेनेकर, मगेंश जगके, दुर्गेश मालपुरे, राजेश छिपेकर, भोजू पटले, प्रभुदास जगने, रविन्द्र मानकर, झाड़ूराम मानकर, संतोष मानकर, कुन्ती बर्वे, बीआर परगनिया, सत्यशीला टांडेकर, निर्मला मानकर सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद थे।