Breaking News

गौठान योजना में सबसे फिसड्‌डी है दुर्ग नगर निगम, आवारा कुत्तों के आतंक से पब्लिक परेशान, विधायक ने अफसरों से पूछा, कब होगा सरकार की सबसे महत्वाकांक्षी योजना का क्रियान्वयन  

IMG-20190910-WA0009

सीजी न्यूज रिपोर्टर

शहर में आवारा कुत्तों और मवेशियों के कारण लोग परेशान हैं। इसके बावजूद जिला प्रशासन और निगम प्रशासन को नागरिकों की परेशानी से कोई सरोकार नहीं है। नई सरकार की सबसे महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरुवा, घुरुवा और बाड़ी योजना से शहर में गौठान का निर्माण शुरू तो हुआ लेकिन अधूरा रह गया। गांव-गांव और दूसरे शहरों में गौठान का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है लेकिन दुर्ग नगर निगम इसमें पूरी तरह फिसड्‌डी साबित हुआ है। शहर विधायक अरूण वोरा ने आज इसी मुद्दे पर कलेक्टर अंकित आनंद और निगम कमिश्नर इंद्रजीत बर्मान से चर्चा की। लोगों को परेशानी से मुक्त करने अभियान चलाने कहा।

वोरा ने कहा कि नई सरकार ने गौवंश को संरक्षण देने योजना शुरू की जिसका क्रियान्वयन अब तक दुर्ग नगर निगम में नहीं हुआ है। प्रदेश के हर क्षेत्र में हरेली की दिन गौठानों का लोकार्पण कर दिया गया वहीं दुर्ग में गौठान का निर्माण अधूरा है। यहां गोकुल नगर में गौठान का निर्माण करने अमृत मिशन की पाइप लाइन भी पहुंचा दी गई है। सड़कों पर घूमने वाले 62 पशुओं को पकड़कर गौठान में रखा गया लेकिन चारा-पानी न होने के कारण सभी मवेशियों को छोड़ दिया गया।

विधायक ने कलेक्टर व निगम कमिश्नर से चर्चा करते हुए गौठान को तत्काल शुरू करने का आग्रह किया है। इसी तरह डॉग हॉउस का मामला भी जिला प्रशासन और नगर निगम के बीच अटका है। गली मोहल्लों में लोगों का घरों से निकलना दूभर हो गया है। हर गली में कुत्तों के झुंड से लोग आतंकित हैं। मुख्य मार्गों से पशुओं के घूमने के कारण लगातार दुर्घटनाएं घट रही हैं। मुख्य मार्गों से लेकर गली कूचे तक हर जगह मवेशियों और आवारा कुत्तों के जमघट से आम जनता त्रस्त हो चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

ठगड़ा बांध को पर्यटन केंद्र बनाने विधायक ने मांगे 10 करोड़

डिस्ट्रिक्ट माइनिंग फंड से शहर में कराएँ विकास कार्य – वोरा सीजी न्यूज़ रिपोर्टर/दुर्ग डिस्ट्रिक्ट ...