Breaking News

Top News

केंद्रीय वित्तमंत्री को सीएम की सलाह, छत्तीसगढ़ के आर्थिक विकास मॉडल का अध्ययन कर लें

Share Now

केंद्र सरकार को आत्ममुग्धता छोड़ विपक्षी नेताओं की सलाह लेकर अर्थव्यवस्था सुधारने की नसीहत दे चुके हैं सीएम, अब वित्त मंत्री को सलाह दी

images (5)download (5)

सीजी न्यूज रिपोर्टर

अर्थव्यवस्था में आई गिरावट को लेकर केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बयान के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उन्हें छत्तीसगढ़ के आर्थिक विकास का अध्ययन करने की सलाह दी है। भूपेश ने ट्विटर के माध्यम से कहा है कि छत्तीसगढ़ में ओला, उबेर दोनों अपनी सेवाएं दे रहे हैं। इसके बावजूद यहां पिछले 9 महीने में ऑटोमोबाइल सेक्टर में उछाल आया है। बता दें कि हाल ही में वित्त मंत्री ने बयान दिया था कि ओला, उबेर जैसी सेवाओं के कारण ऑटोमोबाइल सेक्टर में गिरावट आई है।

देश में भयंकर मंदी के कारण मारूति उद्योग समूह, अशोक लीलैंड सहित कई ऑटोमोबाइल कंपनियों में उत्पादन बंद करने की नौबत आ गई है। लाखों लोगों की नौकरियां चली गई हैं। ऑटोमोबाइल सेक्टर में आई गिरावट के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बयान दिया कि ओला, उबेर के ज्यादा उपयोग के कारण लोग गाड़ियां नहीं खरीद रहे। जिससे  ऑटोमोबाइल सेक्टर प्रभावित हो रहा है।

मंदी की मार से विपक्ष लगातार सरकार पर हमला कर रहा है। देश की आर्थिक स्थिति पर प्रधानमंत्री से बयान देने की मांग की जा रही है। विपक्ष के हमले से बचने वित्त मंत्री ने ट्विटर के माध्यम से मंदी को लेकर बयान देते हुए कहा कि  अध्ययन से पता चला है कि वाहनों को लेकर युवाओं की सोच बदली है। वे स्वयं का वाहन खरीदकर मासिक किस्त देने की बजाय ओला या उबेर जैसी सेवाओं और मेट्रो ट्रेन सेवा को पसंद कर रहे हैं।

इसके जवाब में भूपेश बघेल ने री-ट्वीट करते हुए कहा कि हमारे छत्तीसगढ़ में ओला और ऊबर दोनों अपनी सेवाएं दे रहे हैं। फिर भी ऑटोमोबाइल सेक्टर में उछाल आया है। सवाल देश की अर्थव्यवस्था से जुड़ा है। इसलिए आग्रह है कि आप एक बार छत्तीसगढ़ के आर्थिक विकास के मॉडल का अध्ययन कर लें। यहां तो रोजगार भी बढ़ा है।

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री ने इससे पहले 30 अगस्त को देश की अर्थव्यवस्था को लेकर ट्वीट करते हुए केंद्र सरकार पर तंज कसा था। ट्वीटर के माध्यम से उन्होंने कहा कि मेरा केंद्र सरकार से आग्रह है कि संकट के इस समय में आत्ममुग्धता को छोड़कर विपक्ष के नेताओं के साथ बैठकर चर्चा करें। सभी के अनुभव से अर्थव्यवस्था को फिर से खड़ा करने की दिशा में काम करें। देश हम सबसे बनता है और देश के लिए हम सबको एक सूत्र में आना होगा।

इस ट्वीट के बाद भूपेश ने अब केंद्रीय वित्तमंत्री के बयान पर राज्य की अर्थव्यवस्था का अध्ययन करने की सलाह दी है। भूपेश के हमलों से आहत भाजपा नेताओं ने भी जवाबी हमले तेज कर दिए हैं। प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा है कि पूरी दुनिया में आर्थिक मंदी के हालात आते रहते हैं। केंद्र सरकार इससे निबटने के उपाय करती है। वास्तव में छत्तीसगढ़ में मंदी आई है। प्रदेश में विकास कार्य ठप हैं। चुनावी लाभ लेने के लिए सरकार ने कई फैसले किए हैं जिसके लिए सरकार को लोन लेना पड़ रहा है। यह सरकार ऋण के आधार पर चल रही है।