Breaking News

Top News

हैरत में डाल देते थे भारत रत्न डॉ. विश्वेश्वररैया के काम – कलेक्टर

Share Now

दुर्ग रीजन के इंजीनियरों ने मनाया अभियंता दिवस समारोह

152

कलेक्टर अंकित आनंद ने विद्युत कंपनी मुख्यालय परिसर में डॉ. विश्वेश्वररैया की प्रतिमा का अनावरण किया।

सीजी न्यूज रिपोर्टर। दुर्ग

देश के महान इंजीनियर भारत रत्न डाॅ. मोक्षगुण्डम विश्वेश्वररैया के 159 वें जन्म दिवस पर 15 सितंबर  को छत्तीसगढ़ स्टेट पाॅवर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड, दुर्ग के क्षेत्रीय मुख्यालय परिसर में ‘‘अभियंता दिवस’’ मनाया गया। समारोह के मुख्य अतिथि दुर्ग के कलेक्टर अंकित आनंद थे। उन्होंने मुख्यालय परिसर में महान अभियंता डाॅ मोक्षगुण्डम विश्वेश्वररैया की प्रतिमा का अनावरण किया।

153

समारोह में मुख्य अतिथि ने कहा कि डॉ विश्वेश्वररैया के कार्य लोगों को हैरत में डाल देते थे। अपने 101 वर्ष के जीवनकाल में डाॅ विश्वेश्वररैया अंतिम समय तक सक्रिय जीवन व्यतीत करते रहे। एक बार एक व्यक्ति ने उनसे पूछा  कि आपके चिर यौवन का रहस्य क्या है? उन्होंने जवाब दिया, जब बुढ़ापा मेरा दरवाजा खटखटाता है तो मैं भीतर से जवाब देता हूं कि विश्वेश्वररैया घर पर नहीं है, और वह निराश होकर लौट जाता है।

बुढ़ापे से मेरी मुलाकात ही नहीं हो पाती तो वह मुझ पर हावी कैसे हो सकता है। वे बहुत क्रियेटिव इंसान थे। वे हमेशा कहते थे कि हर कार्य को इस ढंग से करना चाहिए कि वह दूसरों के कार्य से श्रेष्ठ हो। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कार्यपालक निदेशक अशोक कुमार ने कहा कि राष्ट्र निर्माण के लिए भारत रत्न मोक्षगुण्डम विश्वेश्वररैया द्वारा किये गए उत्कृष्ट कार्यों की सूची काफी लंबी है। कृष्णा राज सागर डैम, खड़कवासला डैम सहित कई सिंचाई परियोजनाओं में उन्होंने उल्लेखनीय कार्य किया। देश के निर्माण में इंजीनियरों का बड़ा योगदान रहा है।

अतिरिक्त मुख्य अभियंता एम जामुलकर ने कहा कि ऐसे कई क्षेत्र हैं जहां इंजीनियर ने करिश्मे दिखाए हैं और दुनिया को एक जगह पर बैठे-बैठे आसमान तक की सैर कराई है। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि ने दुर्ग रीजन में पदस्थ 9 कनिष्ठ अभियंता और 4 सहायक अभियंताओ को बेहतर कार्य के लिए उत्कृष्ट अभियंता सम्मान से सम्मानित किया।
समारोह में छत्तीसगढ़ स्टेट पाॅवर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड दुर्ग के सभी इंजीनियर शामिल हुए।
इस मौके पर नियामक आयोग के पूर्व अध्यक्ष एवं सीएसईबी के पूर्व सदस्य (टी एंड डी) मनोज डे, सीएसपीडीसीएल के पूर्व प्रबंध संचालक इंजीनियर जीएस देशपांडे, सेवानिवृत्त मुख्य अभियंता इंजीनियर पीएस कुमार, अधीक्षण अभियंता द्वय वीआर मौर्या और एसआर बांधे सहित दुर्ग क्षेत्र के समस्त कार्यपालन अभियंता, सहायक एवं कनिष्ठ अभियंता उपस्थित थे।