Breaking News

Top News

कुपोषण और एनीमिया समाप्त करने 2 अक्टूबर से मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान, मिलेगा पौष्टिक भोजन

Share Now

 सीजी न्यूज रिपोर्टर

राज्य में 5 साल तक के कुपोषित और एनीमिया पीड़ित बच्चों और एनिमिक महिलाओं के स्वास्थ्य में सुधार लाने 2 अक्टूबर से मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान की शुरूआत की जाएगी। महात्मा गांधी के जन्मदिवस के अवसर पर शुरू हो रहे अभियान के तहत चिन्हित हितग्राहियों को निशुल्क पौष्टिक भोजन दिया जाएगा। मुख्य सचिव सुनील कुजूर ने कहा है कि पौष्टिक भोजन की गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए। उन्होंने स्थानीय स्तर पर उपलब्ध पोषक खाद्य पदार्थो का उपयोग करने के निर्देश दिए।

मुख्य सचिव ने अभियान के तहत हितग्राहियों की विस्तृत जानकारी रखने के निर्देश दिए। कुपोषित और एनीमिया पीड़ित बच्चों के लिए अलग-अलग मेनू बनाने के निर्देश दिए। एनिमिक महिलाओं के लिए भी विशेष रूप से मेनू का निर्धारण किया जाएगा। अभियान शुरू होने के निश्चित समयसीमा के बाद हितग्राहियों के स्वास्थ्य में हो रहे परिवर्तन की भी जानकारी ग्राम स्तर पर रखने के निर्देश दिए गए। मुख्य सचिव ने अभियान के तहत लाभान्वित होने वाले हितग्राहियों की जानकारी, अभियान के दौरान दिए जाने वाले पौष्टिक भोजन की सारणी, विभागों की गतिविधियों और अन्य व्यवस्थाओं की विस्तृत जानकारी रखने के निर्देश दिए।

बैठक में बताया गया कि राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे के अनुसार छत्तीसगढ़ राज्य में 5 वर्ष से कम आयु के लगभग 37.7 प्रतिशत बच्चें कुपोषित है। देश में कुपोषित बच्चों का औसत 35.7 प्रतिशत हैं। इसी तरह 15 से 49 वर्ष की 47 प्रतिशत महिलाएं एनीमिया से पीड़ित है। जबकि भारत में 53.1 प्रतिशत महिलाएं एनिमिक हैं। कुपोषण एवं एनिमिया को जड़ से समाप्त करने के लिए मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान का संचालन किया जाएगा। प्रथम चरण में राज्य के सभी जिलों में 3 वर्ष के लिए कार्यक्रम का संचालन होगा।