Breaking News

Top News

वर्ल्ड बैंक के कंट्री हेड मुख्यमंत्री से मिले, नरवा, गरवा, घुरूवा, बाड़ी योजना में मदद करेगा वर्ल्ड बैंक

Share Now

 

191वर्ल्ड बैंक के कंट्री हेड जुनैद कमाल अहमद ने मुख्यमंत्री और कृषि मंत्री से कृषि क्षेत्र में नई तकनीक के उपयोग और उत्पादन से जुड़े विषयों पर विचार-विमर्श किया 

सीजी न्यूज रिपोर्टर

छत्तीसगढ़ सरकार की सुराजी गांव योजना नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी विकास योजना को वर्ल्ड बैंक से मदद मिलेगी। वर्ल्ड बैंक के कंट्री हेड जुनैद कमाल अहमद ने आज सुबह मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से उनके निवास कार्यालय में मुलाकात की। अहमद ने मुख्यमंत्री और कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे से कृषि उत्पादन बढ़ाने पर चर्चा की। कृषि की दृष्टि से कम विकसित क्षेत्रों में नई तकनीक के उपयोग को बढ़ावा देने और कृषि उत्पादन में बढ़ोतरी करने के उपायों पर चर्चा की गई।
मुख्यमंत्री ने अहमद को प्रदेश में कृषि आधारित अर्थव्यवस्था के समग्र विकास के लिए शुरू की गई सुराजी गांव योजना नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी विकास योजना की विस्तृत जानकारी दी। बघेल ने बताया कि योजना में ग्रामीणों का स्व स्फूर्त सहयोग मिल रहा है। अहमद ने खेती-किसानी की प्रगति के लिए शुरू हुई इस योजना की सराहना करते हुए कहा कि नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी विकास योजना समेत कृषि क्षेत्र के विकास और कृषि आधारभूत संरचनाओं के लिए वर्ल्ड बैंक हरसंभव सहयोग देगा।
बघेल ने नरवा योजना में नदी-नालों को रिचार्ज करने, गरवा के माध्यम से पशुधन विकास के तहत गांवों में गौठान और चारागाह विकसित करने, गौठानों को पशुओं के डे-केयर सेन्टर के रूप में विकसित करने की जानकारी दी। यहां पशुओं के लिए छाया और पानी की व्यवस्था है। पशुओं के गोबर से घुरवा में कम्पोस्ट और वर्मी खाद और बॉयो गैस का उत्पादन किया जा रहा है। गौठानों में पशु नस्ल सुधार के कार्यो के साथ दुग्ध उत्पादन के लिए भी कार्य किए जाएंगे।
मुख्यमंत्री ने बताया कि इससे गांव के महिला स्वसहायता समूहों और युवाओं को जोड़ा जा रहा है। इस योजना से पशुओं से फसल बचाने खेतों को घेरने की जरूरत नहीं पड़ेगी। किसानों को जैविक खाद मिलेगा। कृषि लागत कम होगी और लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे। बाड़ी योजना में किसानों के घरों की बाड़ी में सब्जियों और मौसमी फलों के उत्पादन को बढ़ावा दिया जा रहा है। इससे पौष्टिक आहार उपलब्ध हो सकेगा।