Breaking News

Top News

प्याज फिर रुलाने लगा, रीटेल भाव 60 रुपए पहुंचा, यही हाल रहा तो सौ का आंकड़ा पार करेगा

Share Now

231

एक बार फिर प्याज ने रुलाना शुरू कर दिया है। इस बार कारण बाढ़ और बारिश है। मध्य भारत और महाराष्ट्र में भारी बारिश और बाढ़ के कारण प्याज की आवक घट गई है। थोक दाम 30से 45 रुपए चल रहा है जबकि रीटेल में इसका भाव 60 रुपए है। मार्केट के सूत्रों ने बताया कि छत्तीसगढ़ सहित सभी राज्यों में प्याज की आवक 50 फीसदी तक कम हुई है। दुर्ग भिलाई के बाजारों में प्याज का चिल्हर भाव 60 रुपए तक पहुंच गया है।

इस बार सितंबर माह में महाराष्ट्र और मध्यभारत में लगातार बारिश के कारण खेतों में प्याज की खड़ी फसल बर्बाद हो गई। इसके कारण प्याज की आवक पर जबर्दस्त असर पड़ रहा है। प्याज के दाम दोगुना से ज्यादा बढ़ चुके हैं। अभी तक प्याज के दामों में किसी भी तरह की राहत मिलने की संभावना नहीं है। सूत्रों के अनुसार यही हाल रहा तो प्याज के दाम सौ रुपए तक पहुंच सकते हैं।

आम तौर पर 20 से 25 रुपए प्रति किलो की दर से बिकने वाला प्याज एक माह पहले 30 रुपए तक पहुंचा। इसके बाद इसके दाम 40 रुपए हो गए। कुछ दिनों बाद रेट में मामूली कमी आने के बाद अब फिर से दाम में जबर्दस्त उछाल आया है। इस समय प्याज का रीटेल भाव 60 रुपए चल रहा है।

खास बात ये है कि सरकारी एजेंसियों ने अभी तक प्याज के दामों में नियंत्रण करने में दिलचस्पी नहीं दिखाई है। जमाखोरों के स्टाक चेक करने का काम भी शुरू नहीं हुआ है। दिल्ली सरकार ने प्याज के दाम सस्ती दर पर उपलब्ध कराने के प्रयास शुरू कर दिए हैं लेकिन छत्तीसगढ़ के अफसरों ने अभी तक प्याज के दाम नियंत्रित करने की दिशा में कोई कदम नहीं उठाया है।