Breaking News

Top News

अरबों की वक्फ संपत्तियों की अफरातफरी, बोर्ड ने रुकवाई रजिस्ट्री, प्रशासक नियुक्त किया

Share Now

4-oct-3.jpg

जगदलपुर में अरबों रुपए की वक्फ संपत्ति को बेचने और अफरातफरी करने के मामले का पता चलते ही राज्य वक्फ बोर्ड ने कार्रवाई शुरू कर दी है। वक्फ बोर्ड को 3 अक्टूबर को सूचना मिली कि अंजुमन की एक वक्फ सम्पत्ति की रजिस्ट्री कराने की तैयारी चल रही है। सूचना मिलते ही अध्यक्ष राज्य वक्फ बोर्ड के पर्यवेक्षक दल ने कलेक्टर से मुलाकात कर मामले की जानकारी दी। इसके बाद रजिस्ट्री रोकने की कार्यवाही की गई। अब अंजुमन इस्लामिया कमेटी, जगदलपुर के पूर्व अध्यक्ष सलीम रजा से तत्काल प्रभार लेने की कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि राज्य वक्फ बोर्ड को अंजुमन इस्लामिया कमेटी जगदलपुर की अरबों रूपए की वक्फ सम्पत्तियों को अवैध रूप से बेचे जाने की शिकायतें मिल रही थी। वक्फ सम्पत्तियों की अफरा-तफरी और कमेटी के विवाद के निबटारे के लिए बोर्ड ने दो दिन पहले जगदलपुर में 7 सदस्यीय पर्यवेक्षक दल भेजा। अंजुमन इस्लामिया कमेटी के पूर्व अध्यक्ष के दावे को खत्म करते हुए प्रशासक की नियुक्ति कर दी है।
पर्यवेक्षक दल ने जगदलपुर के सभी पक्षों से मुलाकात की और वक्फ बोर्ड अध्यक्ष सलाम रिज़वी को पूरी जानकारी दी।  इसके बाद अध्यक्ष के निर्देश पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने अंजुमन इस्लामिया कमेटी, जगदलपुर के लिए प्रशासक नियुक्त करने पत्र भेजा। बस्तर कलेक्टर ने आदेश पारित करते हुए डिप्टी कलेक्टर प्रवीण वर्मा को अंजुमन इस्लामिया कमेटी, जगदलपुर का प्रशासक नियुक्त किया है। उनके सहयोग के लिए जिला सहकारी बैंक के सीईओ अमीर खान,  जनपद के सेवानिवृत्त सीईओ अब्बास अली शेख और जिला सहकारी बैंक जगदलपुर के मुख्य पर्यवेक्षक सैयद अमीन रजा को सदस्य नियुक्त किया गया है।

बता दें कि छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष पद का प्रभार संभालने के बाद सलाम रिजवी ने राज्य के सभी जिलों में  वक्फ की तमाम सम्पत्तियों के सर्वेक्षण और विवादों को जल्द निपटाने के साथ ही प्रशासक नियुक्त करने की प्रक्रिया शुरू की। वक्फ संपत्ति की अफरातफरी करने वालों पर शिकंजा कसने की कार्रवाई शुरू हो गई है। रिजवी ने बताया कि प्रदेश में सभी जिलों में पर्यवेक्षक दलों को भेजने की शुरूआत हो चुकी है और इसके अच्छे नतीजे सामने आ रहे हैं।