Breaking News

Top News

पुलगांव चौक पर जलाया सीएम का पुतला, भाजयुमो ने आनन फानन में किया विरोध प्रदर्शन

Share Now

पाटन में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का पुतला दहन करने से पहले ही पुलिस ने भाजपा नेताओं को गिरफ्तार कर लिया। लेकिन पुलिस पुलगांव थाने के पास मिनीमाता चौक में भाजपा नेताओं को पुतला दहन करने से नहीं रोक पाई। यहां पुलिस बल की मौजूदगी में भाजयुमो नेताओं ने आनन फानन में मुख्यमंत्री का पुतला जला दिया। पुलिस देखती रह गई।

भाजपा नेताओं ने सावरकर के खिलाफ बघेल की टिप्पणी के विरोध में आज पाटन जनपद कार्यालय के सामने पुतला दहन करने की तैयारी की थी। सुबह 11 बजे पाटन पुलिस ने भाजपा विधायक दल के स्थायी सचिव जितेन्द्र वर्मा, भाजपा नेता लोकमणि चंद्राकर, जनपद अध्यक्ष हर्षा चंद्राकर, जनपद उपाध्यक्ष खेमलाल देशलहरे और शुभम शर्मा को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार लोगों को पुलिस ने दुर्ग के पुलगांव थाना में दिन भर बैठाकर रखा।

पाटन के भाजपा नेताओं को पुलगांव थाना में रखे जाने की सूचना मिलने पर दुर्ग के भाजयुमो नेताओं ने थाने पहुंचकर विरोध जताया। गिरफ्तार नेताओं को तत्काल रिहा करने की मांग की। भाजयुमो नेताओं के साथ पुलिस की जमकर बहस हुई। जिला भाजयुमो अध्यक्ष दिनेश देवांगन ने बताया कि जिला भाजपा अध्यक्ष उषा टावरी ने भी पुलिस प्रशासन से गिरफ्तार भाजपा नेताओं को तत्काल रिहा करने की मांग की। इसके बाद पुलिस ने भाजपा नेताओं को छोड़ा।

इस बीच भाजयुमो नेताओं ने पुलगांव चौक पर पहुंचकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का पुतला जला दिया। भाजयुमो नेता राहुल पंडित और नितेश साहू के नेतृत्व में पुतला दहन से पहले युवा मोर्चा के पदाधिकारियों ने जमकर नारेबाजी की। गौरतलब है कि पुलगांव चौक पर कई पुलिस जवान मोर्चा पाइंट पर ड्यूटी तैनात थे। भाजयुमो नेताओं ने चौक के दूसरे छोर पर यानी पोटिया मार्ग वाले छोर पर पुतला दहन किया। पुतला जलने के बाद पुलिस जवान दौड़ते हुए वहां पहुंचे। इसी दौरान भाजयुमो नेता नारेबाजी करते हुए वहां से चले गए।

पुलिस के रवैये पर कांग्रेस नेता भड़के

सीएम का पुतला दहन होने की खबर मिलने पर कांग्रेस नेता अमीर तिगाला के साथ पुलिस के रवैये पर भड़क गए। उन्होंने पुलगांव चौक में मौजूद पुलिस से सवाल किया कि भाजपा नेताओं को मुख्यमंत्री का पुतला दहन करने से रोका क्यों नहीं गया। उन्होंने ऐसा करने वालों को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की। पुलिस ने सफाई देते हुए कहा कि नियमानुसार पुतला दहन या विरोध प्रदर्शन से पहले पुलिस थाने में सूचना देना जरूरी है। युवा मोर्चा या भाजपा नेताओं ने पुतला दहन की सूचना पुलिस थाने में नहीं दी। बिना सूचना दिए ही पुलगांव थाने में पुतला दहन कर दिया गया।