Breaking News

Top News

देश का पहला गार्बेज कैफे अंबिकापुर में खुला, प्लास्टिक कचरे के बदले मिलेगा भोजन, सिंहदेव ने किया उद्घाटन

Share Now

804

देश का पहला गार्बेज कैफे अंबिकापुर में खुल गया है। यहां प्लास्टिक कचरे के बदले भोजन और नाश्ते दिया जाएगा।  पंचायत एवं स्वास्थ्य मंत्री ने आज अम्बिकापुर के प्रतीक्षा बस स्टैंड में गार्बेज कैफे का उद्घाटन किया। सिंहदेव ने कहा कि सिंगल यूज प्लास्टिक की निपटान की समस्या विकराल रूप ले चुकी है। अम्बिकापुर में प्लस्टिक कचरे के बदले गार्बेज कैफे शुरू करने की अनूठी पहल से कचरा निपटान की समस्या सुलझाने में काफी मदद मिलेगी।

सिंहदेव ने कहा कि लोगों को प्लास्टिक कचरा व्यवस्थित तरीके से एकत्र करन के लिए प्रेरित करने की यह पहल सकारात्मक परिणाम लाएगी। अम्बिकापुर में गार्बेज कैफे का प्लान बनने के बाद से ही राष्ट्रीय और अंतरष्ट्रीय स्तर पर इसकी चर्चा हो रही है। राष्ट्रीय स्तर पर मीडिया में इसकी चर्चा ह रही है। एक किलो प्लास्टिक का कचरा लाने पर लोगों को भरपेट खाना मिलेगा। आधा किलो कचरा लाने पर नाश्ता की व्यस्था गार्बेज केफे में की गई है। इस व्यवस्था से प्लास्टिक कचरे का संकलन होगा और जरूरतमंदो को भोजन और नाश्ता भी मिल पाएगा।

नगर निगम ने बस स्टैण्ड में गार्बेज कैफे का संचालन करने की जिम्मेदारी निजी व्यवसायी को दी है। कोई भी व्यक्ति प्लास्टिक का कचरा लाकर वजन करा सकता है तथा वजन के अनुसार उसे भोजन या नाश्ते का टोकन दिया जाएगा। टोकन की सुविधा बस स्टैण्ड के पास स्थित एसएलआरएम सेंटर में भी की गई है। सिंहदेव ने विशुनपुर में 50 लाख रूपए की लागत से निर्मित सामुदायिक भवन का लोकार्पण भी किया। इस दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुलदीप शर्मा सहित अन्य जनप्रतिनिधि व अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे।

805

सिंहदेव ने गारबेज कैफे के भोजन का स्वाद लिया

पंचायत मंत्री सिंहदेव ने गार्बेज केफे में कचरा जमा करने वाले लोगों से खाने की गुणवत्ता के बारे में पूछताछ की।  उन्होंने खुद भोजन करने के बाद इसे उत्तम गुणवत्ता का बताया। उन्होंने अधिकारियों को भोजन की गुणवत्ता कायम रखने के निर्देश दिए। इस अवसर पर महापौर डॉ. अजय तिर्की, सभापति शफी अहमद, डिप्टी मेयर अजय अग्रवाल, कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर, पुलिस अधीक्षक श्री आशुतोष कुमार सिंह उपस्थित थे।