Breaking News

Top News

शहर की सफाई व्यवस्था चौपट रहने पर वोरा भड़के, अफसरों से सवाल किया, करोड़ों खर्च के बावजूद इतनी गंदगी कैसे ?

Share Now

101

सफाई व्यवस्था का निरीक्षण करने निकले वोरा से गंदगी की शिकायतें बताते हुुए वार्ड की महिलाएं

निगम अफसरों को चेतावनी दी, लापरवाही के कारण डायरिया, पीलिया से मौतें हो चुकी, अब जीवन से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं करेंगे

शहर की चौपट सफाई व्यवस्था को लेकर विधायक अरूण वोरा ने आज निगम के अफसरों की जमकर क्लास ली। कई वार्डों में जगह जगह गंदगी देखकर बिफरे वोरा ने साफ कहा कि गंदगी होने के कारण निगम प्रशासन लोगों के जीवन के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। शहर में गंदगी के कारण पहले भी डायरिया, पीलिया, डेंगू जैसी बीमारियां हो चुकी हैं। इसके बावजूद निगम अफसरों की लापरवाही जस की तस है। वोरा ने सीधा सवाल किया कि सफाई कार्य के लिए करोड़ों रुपए खर्च होने के बावजूद शहर में गंदगी क्यों है।

102

रोज सफाई के दावे करने वाले दुर्ग नगर निगम ऐसा है सफाई का हाल

बीते दो दिनों में पोटिया, कुंदरापारा, केलाबाड़ी बस्ती, इंदिरा नगर, मिलपारा, आजाद वार्ड, पुलगांव बस्ती, बघेरा, उरला, शिकारी पारा, वार्ड 28 बांसपारा, पटरी पार में कैलाश नगर, तितुरडीह बस्ती, रायपुर नाका उत्कल कालोनी के वार्डवासी बड़ी संख्या में विधायक अरुण वोरा के पास सफाई न होने की शिकायत लेकर पहुंचे। वार्ड के लोगों के आग्रह पर वोरा ने इन क्षेत्रों का निरीक्षण किया। वार्डों के निरीक्षण के दौरान सार्वजनिक शौचालय, नालियों की चौपट सफाई व्यवस्था देखकर वोरा भड़क गए। उन्होंने स्वास्थ्य निरीक्षक को मौके पर तलब किया और कड़ी फटकार लगाई।वोरा ने करीब दो घंटे तक सवास्थ्य विभाग के अफसरों को अपने साथ लेकर वार्डों में घुमाया। सफाई न होने का कारण पूछने पर निगम अधिकिरयों के पास कोई जवाब नहीं था। वोरा के सवालों पर अफसर बगलें झांकते रहे। वोरा ने चेतावनी देते हुए कहा कि नगर निगम आम लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहा है। इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। शहर के किसी भी वार्ड में नियमित सफाई नहीं हो रही है। स्लम बस्तियों की सफाई व्यवस्था बदतर है। चारों तरफ नालियां बजबजा रही हैं। लोग नारकीय परिस्थितियों में जीवन जी रहे हैं।वोरा ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन सहित सफाई व्यवस्था के लिए राज्य शासन से करोड़ों रुपए मिलने के बाद भी निगम प्रशासन ने बेहतर इंतजाम नहीं किए। डोर टू डोर कचरा कलेक्शन हर दिन नहीं हो रहा है। डस्टबीन हटाने के कारण लोगों के घरों में कचरा इकट्ठा हो जाता है। जिसके कारण लोग परेशान हैं। नगर निगम के पास सफाई व्यवस्था के लिए कोई प्लान ही नहीं है। अव्यवस्था के कारण कई स्थानों पर सड़कों के किनारे कचरे का अम्बार लग रहा है। सार्वजनिक शौचालयों की हालत बदतर है।नगर निगम की कार्यप्रणाली के कारण स्वच्छ भारत अभियान पूरी तरह ठप हो गया है। विधायक ने निगम अफसरों को नसीहत देते हुए शहर के हर वार्ड में महासफाई अभियान शुरू करने कहा है। उन्होंने साफ सफाई के अलावा शहर के विकास कार्यों को पूरा कराने में भी निगम प्रशासन असफल है। निराश्रित और विधवा पेंशन के हितग्राही आज भी भटक रहे हैं। वोरा ने निगम आयुक्त से चर्चा कर सभी अव्यवस्थाओं को तत्काल दूर करने कहा है।