Breaking News

Top News

नवा रायपुर में देश-विदेश के 5 सौ से ज्यादा डॉक्टरों का कुंभ मेला लगा

Share Now

1212

  • सीएम ने सम्मेलन का उद्घाटन किया, कहा मानवता की सेवा सबसे बड़ी सेवा
  • पीडियाट्रिक कॉर्डियक सोसायटी के सम्मेलन में मिलेगी बच्चों की चिकित्सा की नई जानकारी
  • सम्मेलन में भारत के पांच सौ बालरोग विशेषज्ञ, सर्जन और एनेस्थिस्योलॉजिस्ट सहित यूएसए, ब्रिटेन, बेल्जियम, आस्ट्रेलिया, कनाडा, तुर्की के 25 अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधि विशेषज्ञ शामिल

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज नवा रायपुर के सत्य सांई संजीवनी हॉस्पिटल में पीडियाट्रिक कार्डियक सोेसाइटी ऑफ इंडिया के तीन दिवसीय वार्षिक सम्मेलन का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि मानवता की सेवा ही सबसे बड़ी सेवा है। नवा रायपुर स्थित श्री सत्य सांई संजीवनी अस्पताल सेवा का मंदिर है। यहां बच्चों के हृृदय रोग का निःशुल्क इलाज हो रहा है। श्री सत्य सांई अस्पताल में देश-विदेश के पांच सौ से अधिक डॉक्टर हृदय रोग सहित बहुत से चिकित्सकीय आयामों पर जानकारी का आदान-प्रदान करेंगे। सम्मेलन में नई-नई जानकारियां मिलेगी जो मानवता की सेवा के लिए और ज्यादा प्रभावशाली साबित होगी।

कार्यक्रम में बताया गया कि पीसीएसआई का सम्मेलन छत्तीसगढ़ में पहली बार हो रहा है। सम्मेलन में बाल चिकित्सा कॉर्डियोलॉजी, सर्जरी, एनेस्थिसियालॉजी, कैथइंटरवेंशन और नर्सिंग के क्षेत्र में नई चिकित्सा के संबंध में विशेषज्ञ अपने विचार व्यक्त करेंगे। अधिवेशन में चाइल्ड हार्ट केयर को एक नये नजरिए से देखा जाएगा। यह सम्मेलन बाल चिकित्सा कॉर्डियक बिरादरी के लिए कुम्भ मेला जैसा माना जाता है।

तीन दिवसीय सम्मेलन में भारत के पांच सौ बालरोग विशेषज्ञ, सर्जन और एनेस्थिस्योलॉजिस्ट सहित संयुक्त राष्ट्र अमेरिका, ब्रिटेन, बेल्जियम, आस्ट्रेलिया, कनाडा और तुर्की के 25 अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधि विशेषज्ञ अपने अनुभव और ज्ञान को प्रतिनिधियों के साथ साझा करेंगे। कार्यक्रम में मधुसूदन स्वामी, पीसीएसआई के डॉ. संजीव चोपडा, डॉ राजेश शर्मा, डॉ स्नेहल कुलकर्णी, पुलेला गोपीचंद, सी श्रीनिवास सहित अन्य पदाधिकारी देश-विदेश से आए चिकित्सक और बड़ी संख्या में चिकित्सा छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।