Breaking News

Top News

दुनिया के विकसित शहरों की तर्ज पर रायपुर में भी शुरू होगी 24 घंटे पानी सप्लाई, 30 प्रतिशत तक पानी बचेगा

Share Now

  • स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने टेंडर कॉल किया, ऑटोमेटिक बिलिंग होगी
  • पानी का स्टोरेज करने की जरूरत नहीं पड़ेगी, दिन-रात हर समय नल से मिलेगा साफ पानी   

169

दुनिया के अधिकांश विकसित शहरों में 24 घंटे अबाधित पानी सप्लाई होती है। इन विकसित देशों की तर्ज पर छत्तीसगढ़ में भी 24 घंटे किसी बाधा या रुकावट के बिना वाटर सप्लाई की व्यवस्था की जाएगी। राजधानी रायपुर में विश्व स्तरीय  पानी सप्लाई की व्यवस्था करने रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने प्लान तैयार कर लिया है। इस प्लान का क्रियान्वयन करने टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। यह योजना पूरी होने पर लोगों को पानी का स्टोरेज करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। 24 घंटे नल खुले रहेंगे और लोगों को उनकी जरूरत के अनुसार भरपूर पानी मिलेगा।

रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के एबीडी एरिया व मोतीबाग, गंज मंडी के कमांड एरिया में शुरू की जाएगी। स्मार्ट सिटी लिमिटेड के एमडी शिव अनंत तायल ने बेहतर जल आपूर्ति के लिए स्मार्ट नेटवर्क तैयार करने और इस योजना को तेजी से पूरा करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। इसी निर्देश के तहत अब जलापूर्ति की 24 घंटे अबाधित व्यवस्था की जाएगी। इसके लिए नया प्रस्ताव तैयार किया गया है। टेंडर प्रक्रिया के बाद निर्माण कार्य शुरू किए जाएंगे।

रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के महाप्रबंधक (तकनीकी) एसके सुंदरानी ने बताया कि बिना अवरोध वाटर सप्लाई करने की स्मार्ट व्यवस्था की जाएगी। रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने यह योजना तैयार की है। योजना के तहत 73.64 करोड की लागत से एबीडी एरिया, 5.1 एमएलडी मोतीबाग और 3.4 एमएलडी गंज के कमांड एरिया में निर्बाध पानी सप्लाई की जाएगी।  इस योजना से 164 किलोमीटर परियोजना क्षेत्र में हफ्ते के सातों दिन पूरे साल 24 घंटे पानी सप्लाई करना संभव होगा।

स़फ्टवेयर सिस्टम लगेगा, ऑटोमेटिक बिलिंग होगी

सुंदरानी ने कहा कि इस व्यवस्था के तहत लोगों के घरों में या व्यवसायिक संस्थानों में स्मार्ट मीटर लगाए जाएंगे। ऑटोमेटिक बिलिंग की जाएगी। इसका सॉफ्टवेयर सिस्टम लगाया जाएगा। इससे शतप्रतिशत राजस्व वसूली होगी। इस व्यवस्था से शत-प्रतिशत वैध कनेक्शन हो सकेंगे। इस योजना को 18 माह में पूरा किया जाएगा और संबंधित एजेंसी को 5 वर्षों तक इसका आपरेशन व मेंटेनेंस करना होगा। इस प्रणाली से पानी का दुरुपयोग और नुकसान रोका जा सकेगा। एक अध्ययन के अनुसार 24×7 वाटर सप्लाई से पानी की खपत में 30 प्रतिशत तक कमी आएगी।