Breaking News

Top News

राज्यपाल से मिले प्रदेश भाजपा के दिग्गज नेता, महापौर और अध्यक्ष का चुनाव पार्षदों से कराने पर रोक लगाने ज्ञापन सौंपा

Share Now

1610

प्रदेश भाजपा के दिग्गज नेताओं ने आज राजभवन में राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके को नगरीय निकाय चुनाव के संबंध में ज्ञापन सौंपा। पूर्व नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने नगरीय निकाय चुनाव प्रक्रिया को लेकर दिए ज्ञापन में कहा है कि नगरीय निकायों के महापौर और अध्यक्ष का चुनाव पार्षदों के माध्यम से नहीं होना चाहिए। राज्य सरकार अप्रत्यक्ष प्रणाली से महापौर और अध्यक्ष का चुनाव कराना चाहती है। इस पर रोक लगाने की मांग की गई।

बता दें कि भाजपा ने इस मामले को लेकर 17 अक्टूबर को राज्य व्यापी आंदोलन की तैयारी की है। सभी जिलों और ब्लाकों में इस मामले को लेकर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। राज्य सरकार ने हाल ही में तीन सदस्यीय मंत्रिमंडल उपसमिति का गठन किया था जिसमें महापौर और अध्यक्ष का चुनाव प्रत्याक्ष प्रणाली से करने की बजाय अप्रत्यक्ष प्रणाली से कराने की सिफारिश की है। केबिनेट की बैठक में इस प्रस्ताव पर अंतिम फैसला होना है। फैसले पर मुहर लगने के बाद राज्य सरकार इस प्रस्ताव को लेकर अध्यादेश लाएगी।

आपको बता दें कि मध्यप्रदेश में भी भाजपा ने अप्रत्यक्ष प्रणाली से महापौर और अध्यक्ष का चुनाव कराने पर आपत्ति जताई थी। इस संबंध में राज्यपाल से मिलकर मप्र के भाजपा नेताओं ने जनता के माध्यम से चुनाव कराने की मांग की। यहां हुए घटनाक्रम के दौरान राज्य सरकार ने अध्यादेश लागू करने राज्यपाल के पास भेजा था जिसे राज्यपाल ने रोक दिया। बाद में राज्यपाल ने कमलनाथ सरकार के फैसले को मंजूरी दे दी। राज्यपाल की मंजूरी के बाद मध्यप्रदेश में पार्षद ही महापौर और अध्यक्ष का चुनाव करेंगे।

मध्यप्रदेश की तरह छत्तीसगढ़ में भी भाजपा का प्रतिनिधिमंडल आज राज्यपाल से मिलने पहुंचा। निकायों के चुनावों को लेकर भाजपा नेताओं ने कहा कि महापौर और अध्यक्ष का चुनाव अप्रत्यक्ष प्रणाली से न कराया जाए। प्रतिनिधिमंडल में पूर्व मंत्री व विधायक बृजमोहन अग्रवाल, विधायक विद्यारतन भसीन, पूर्व मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय, पूर्व मंत्री राजेश मूणत, पूर्व विधायक देवजी भाई पटेल, श्रीचंद सुंदरानी, सच्चिदानंद उपासने, रायपुर विकास प्राधिकरण के पूर्व अध्यक्ष संजय श्रीवास्तव सहित अन्य सदस्य मौजूद थे।