Breaking News

Top News

84 करोड़ खर्च कर मेट्रो की तर्ज पर खूबसूरत बनाया जाएगा शहर का मुख्य मार्ग, हाईटेक होंगे चौक-चौराहे

Share Now

175.jpg

नेहरू नगर से मिनीमाता चौक तक जीई रोड का कायाकल्प होगा – वोरा

दुर्ग शहर को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पीडब्लूडी मंत्री ताम्रध्वज साहू के गृह जिला होने का फायदा को मिलने लगा है। विधायक अरूण वोरा की मांग पर पीडब्लूडी ने नेहरू नगर चौक से मिनीमाता चौक तक रोड की तस्वीर संवारने कुल 84 करोड़ रुपए का प्लान तैयार किया है। इस मुख्य मार्ग का उन्नयन, सौंदर्यीकरण और चौड़ीकरण किया जाएगा।   चौक चौराहों को मेट्रो सिटी की तर्ज पर हाईटेक बनाया जाएगा। रिफ्लेक्टिव रोड मार्किंग, साइकिल ट्रैक, कैट आई लगाई जाएगी। शहर का यह मुख्य मार्ग अब आधुनिक शहरों की तर्ज पर जगमगाएगा।

174

मेट्रो सिटी की तर्ज पर जीई रोड का कायाकल्प करने की योजना का ब्लूप्रिंट देखते हुए विधायक अरूण वोरा। साथ खड़े हैं पीडब्लूडी के एसई एके चक्रवर्ती, वरिष्ठ पार्षद राजेश शर्मा और अंशुल पांडेय

लोक निर्माण विभाग के अधीक्षण यंत्री एके चक्रवर्ती से मुलाकात कर शहर विधायक अरुण वोरा ने योजना का ब्लूप्रिंट देखा। वोरा ने योजना के तहत मार्ग चौड़ीकरण सहित सौंदर्यीकरण व अन्य सुविधाओं के सभी कार्य तत्काल शुरू कराने के निर्देश दिए। वोरा ने बताया कि नेहरू नगर चौक से मालवीय चौक, राजेन्द्र पार्क चौक, गांधी तिराहा, पटेल चौक होते हुए मिनीमाता चौक तक मुख्य मार्ग का कायाकल्प किया जाएगा।

आपको बता दें कि विधायक अरूण वोरा पिछली सरकार के कार्यकाल के दौरान भी लगातार मुख्य मार्गों का कायाकल्प करने की मांग करते रहे, लेकिन यह मांग पूरी नहीं हुई। राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद इस योजना को  स्वीकृति मिल गई है। वोरा ने कहा कि मुख्यमंत्री और पीडब्लूडी मंत्री का गृह जिला होने का फायदा निश्चित रूप से दुर्ग शहर को मिलेगा। मुख्य मार्गों के अलावा शहर की सभी सड़कों का सुदृढ़ीकरण कराया जाएगा। इस संबंध में पीडब्लूडी मंत्री ताम्रध्वज साहू से मांग की गई थी, जिस पर उन्होंने सहमति दे दी है।

ऑडिटोरियम का निर्माण तत्काल पूरा करें

वोरा ने पीडब्लूडी अफसरों से साढ़े 11 करोड़ की लागत से बन रहे ऑडिटोरियम की प्रगति की जानकारी भी ली। वोरा ने कहा कि ऑडिटोरियम का निर्माण पूरा कर तत्काल लोकार्पण किया जाए ताकि आम जनता को इसका लाभ मिल सके। चर्चा के दौरान वरिष्ठ पार्षद राजेश शर्मा, अंशुल पांडेय, आयुष शर्मा और लोक निर्माण विभाग के अधिकारी मौजूद थे।