Breaking News

Top News

स्वास्थ्य पंचायत सम्मेलन में शामिल हुए गृह मंत्री, स्वास्थ्य केंद्र में अधूरे स्टॉफ रूम का निर्माण पूरा करने 7 लाख रूपए दिए

Share Now

203-3090726665-1571574563884.jpg
गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने निकुम में आयोजित स्वास्थ्य पंचायत सम्मेलन में मितानिनों से ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवा का काम समर्पण भाव से करने की अपील की। गृह मंत्री ने कहा कि सेवा कार्य में सबसे ज्यादा समर्पण की जरूरत होती है। समर्पण भाव जितना ज्यादा होगा, उतना ही ज्यादा लाभ आम जनता को मिलेगा और लोगों का जीवन बेहतर होगा। जीवन के लिए स्वास्थ्य बड़ी जरूरत है। बीमार होने का मूल कारण जीवन-यापन में बदलाव होना है। खानपान में बदलाव, प्रदूषित जीवन के कारण लोग बीमार हो रहे है।

उन्होंने आधुनिकता वाद, भौतिकवाद, दिखावा और पाश्चात्य जीवन शैली से बचने की अपील करते हुए कहा कि बीमार होकर दवा खाने के बजाय बीमार होने से बचें। इसके लिए संतुलित जीवनशैली व बेहतर खानपान का ध्यान रखना होगा। बेहतर स्वास्थ्य के लिए सभी लोगों को अपने परिवार के सदस्यों को लेकर जागरूक रहना होगा। ताम्रध्वज ने कहा कि वे कभी राजनीतिक रिश्ता नहीं बनाते। हमेशा लोगों के बीच परिवारिक रिश्ता बनाते है। मितानिनों से कहा कि किसी प्रकार की समस्या हो तो बिना किसी झिझक के अपनी बात रख सकते हैं।

उन्होंने निकुम सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सभी प्रकार की सुविधाएं विकसित करने प्रस्ताव देने कहा। इन प्रस्तावों को  स्वीकृति दी जाएगी। कार्यक्रम में दुर्ग जनपद के उपाध्यक्ष महेंद्र साहू ने कहा कि मिताननों के सेवा भाव से गांवों में लोगों के स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता और सजगता बढ़ी है। मितानिनों के माध्यम से गांवों में कई योजनाओं और सेवाओं को आम जनता तक पहुंचाने में मदद मिली है। इस अवसर पर दुर्ग विकासखंड की 445 मितानिनें, प्रेक्षक, स्वास्थ्य अधिकारी सहित विकासखंड स्तरीय स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित थे।