Breaking News

Top News

22 हजार से ज्यादा महिलाओं को जिला सहकारी बैंक देगा पोषण आहार, शासन की योजना को देंगे सालाना करीब एक करोड़ का सहयोग

Share Now

221

शिशुवती महिलाओं को पोषण आहार देने जिला सहकारी बैंक दुर्ग तीन जिलों में सहभागिता निभाएगा। तीनों जिले में 22 हजार से ज्यादा शिशुवती महिलाओं को जैविक अनाज दिया जाएगा। इन महिलाओं को हर माह ढाई किलो चावल, ढाई किलो गेहूं और आधा किलो चना पोषण आहार के रूप में दिया जाएगा। एक अनुमान के अनुसार तीनों जिले की शिशुवती महिलाओं को पोषण आहार देने के लिए जिला सहकारी बैंक हर साल लगभग 70 लाख से एक करोड़ रुपए खर्च करेगा। बैंक इस योजना का क्रियान्वयन महिला एवं बाल विकास विभाग के माध्यम से करेगा।

बैंक के अध्यक्ष प्रीतपाल बेलचंदन ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि राज्य शासन ने महिलाओं और छोटे बच्चों को कुपोषण से बचाने पोषण आहार देने की महत्वाकांक्षी योजना शुरू की है। सरकार ने इस विशाल योजना में सहभागिता और सहयोग देने की अपील व्यवसायिक, औद्योगिक व अन्य संस्थाओं से की है। सरकारी योजनाओं के तहत गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशुओं को पोषण आहार दिया जाता है। शिशुवती माता को पोषण आहार नहीं मिलता।

जिला सहकारी बैंक ने शिशुवती महिलाओं को पोषण आहार देने का फैसला किया है। राशि की व्यवस्था बैंक के सीएसआर मद से की जाएगी। बैंक के संचालक मंडल ने योजना को सर्वोच्च प्राथमिकता देने का फैसला किया है। शिशु का जन्म होने के एक साल बाद तक शिशुवती माता को पोषण आहार दिया जाएगा। माताओं को लैब में टेस्टेड अनाज दिया जाएगा। बैंक के संचालक मंडल के साथ तीनों जिले में 182 सेवा सहकारी समितियों के माध्यम से समय समय पर हितग्राही महिलाओं से पोषण आहार को लेकर फीडबैक भी लिया जाएगा।

25 अक्टूबर को बैंक के स्थापना दिवस पर होगी शुरुआत

बेलचंदन ने बताया कि 25 अक्टूबर को बैंक के स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम के मुख्य अतिथि व राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पोषण आहार देने की शुरुआत करेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिले के प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर करेंगे। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि कृषि मंत्री रविंद्र चौबे, गृह मंत्री रविंद्र चौबे, सहकारिता मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम, महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेड़िया, पीएचई मंत्री गुरू रुद्र कुमार, दुर्ग के सांसद विजय बघेल व कांकेर के सांसद मोहन मंडावी होंगे। मानस भवन में 25 अक्टूबर को यह कार्यक्रम सुबह 10 बजे शुरू होगा। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान बैंक के सीईओ एसके निवसरकर और संचालक मंडल के सदस्य शिव चंद्राकर भी मौजूद थे।