Breaking News

Top News

हर गली में आवारा कुत्तों के झुंड, दहशत में हैं लोग, समस्या से निबटने नगर निगम के पास नहीं है प्लान

Share Now

247.jpg
शहर में आवारा कुत्तों की तादाद लगातार बढ़ने से लोग न सिर्फ परेशान हैं बल्कि कुत्तों के झुंड देखकर लोग दहशतजदा हो रहे हैं। नगर निगम प्रशासन ने आवारा कुत्तों की समस्या से निबटने के लिए किसी तरह का प्लान ही नहीं बनाया है। हालत ये है कि हर वार्ड के गली मोहल्ले में 10 से 20 कुत्तों के कई झुंड हैं। लोग इन कुत्तों को देख अपना रास्ता बदल लेते हैं। आवारा कुत्तों से सबसे ज्यादा दहशत बच्चों और महिलाओं को है।

हाल ये है कि सुबह-शाम पैदल चलकर स्वास्थ्य लाभ लेने वाले लोग हाथ में डंडा लेकर चल रहे हैं। सुबह के समय मार्निंग वाक करने वाली महिलाओं के पास लक़ड़ी का टुकड़ा या डंडा रहता है। मॉर्निंग वाक करने वालों पर आवारा कुत्ते झपटने लगते हैं। कई लोगों ने इसी दहशत के कारण वाकिंग करना बंद कर दिया है।

वरिष्ठ पार्षद राजेश शर्मा ने बताया कि आम जनता रोज आवारा कुत्तों की शिकायत करती है। लोग आवारा कुत्तों की दहशत से त्रस्त हो चुके हैं और जनप्रतिनिधि भी परेशान हैं। नगर निगम ने न तो आवारा कुत्तों की तादाद घटाने के प्रयास किए न डॉग हाउस का निर्माण किया।

एंटी रैबीज वैक्सीन उपलब्ध

कुत्तों के काटने से होने वाली आसाध्य बीमारी रैबीज मानव के लिए काफी घातक बीमारी मानी जाती है। पशुओं में एंटी रैबीज की रोकथाम के लिए पशुधन विकास विभाग ने सभी पशु चिकित्सालयों में एंटी रैबीज वैक्सीन की व्यवस्था की है। यह टीका पशुओं को निशुल्क लगाया जाएगा। पशु चिकित्सालयों में कुत्तो से फैलने वाली अन्य बीमारियों के टीके उपलब्ध नहीं है। पशु मालिकों को सलाह दी गई है कि वे पशु चिकित्सकों की सलाह से अपने पशुओं का टीकाकरण कराएं।