Breaking News

Top News

दिल्ली में पीएम से मिलने का समय नहीं मिला तो सीएम ने भेजी चिट्‌ठी, किसान हित में 2500 रूपए प्रति क्विंटल की दर से धान खरीदने सहमति देने का अनुरोध किया

Share Now

images (5)

– एफसीआई में 32 लाख मीट्रिक टन चावल उपार्जन की अनुमति देने का अनुरोध किया

– इससे पहले जून में भी पीएम को भेजा था पत्र

धान खरीदी सहित किसानों से संबंधित अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर पीएम से चर्चा न हो पाने के बाद दिल्ली से वापस लौटे  मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्‌ठी भेजी है। पत्र में खरीफ वर्ष 2019-20 में किसानों के हित में समर्थन मूल्य बढ़ाकर 2500 रुपए प्रति क्विंटल करने की मांग की गई है। किसी परिस्थितिवश केंद्र द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि न कर पाने पर राज्य सरकार को इस मूल्य पर धान उपार्जित करने की सहमति देने का अनुरोध किया है।

मुख्यमंत्री ने एफसीआई में 32 लाख मीट्रिक टन चावल उपार्जन की अनुमति देने के लिए जरूरी दिशा-निर्देश जारी करने का अनुरोध भी किया। मुख्यमंत्री ने पत्र में लिखा है कि इन महत्वपूर्ण विषयों पर सभी जानकारी देने के लिए उन्होंने 23 व 24 अक्टूबर को पीएम कार्यालय में मिलने का समय मांगा था। व्यस्तताओं के कारण मिलने का समय नहीं मिल पाया। धान खरीदी शुरू करने में अब काफी कम समय बचा है। भूपेश ने किसानों के हित में इन फैसलों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करने का अनुरोध किया है।

मुख्यमंत्री ने पत्र में लिखा है कि छत्तीसगढ़ में 15 नवंबर से किसानों से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की जाएगी। धान खरीदी की सभी तैयारियां हो चुकी है। इससे पहले उन्होंने जुलाई माह में पीएम को पत्र लिखा था। पत्र में वर्ष 2019-20 के दौरान खरीफ सीजन में किसानों के हित में धान का समर्थन मूल्य बढ़ाकर 2500 रुपए प्रति क्विंटल की दर से करने का निवेदन किया था। अब इसी मामले को लेकर सीएम ने दोबारा पीएम को पत्र भेजा है।