Breaking News

Top News

 भाजपा ने नगरीय निकाय चुनाव ईवीएम से कराने राज्यपाल को फिर सौंपा ज्ञापन

Share Now

264

भाजपा सांसद सुनील सोनी के नेतृत्व में पार्टी के प्रतिनिधिमंडल ने आज राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके से राजभवन में मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल से नगरीय निकाय चुनाव प्रणाली को लेकर ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा गया है कि नगरीय निकाय चुनाव ईवीएम की जगह मतपत्र से ही कराए जाएं। ईवीएम की जगह मतपत्र से चुनाव कराने के  फैसले पर भाजपा नेताओं ने सरकार की मंशा पर सवाल उठाए हैं।

भाजपा नेताओं ने मतपत्रों के जरिये चुनाव कराने पर बीजेपी ने गहरे षड्यंत्र की आशंका जताते हुए कहा है कि विधानसभा चुनाव ईवीएम से हुआ। इसमें कांग्रेस की जीत हुई। इसके बाद दो बार उपचुनाव हुए। इसमें भी कांग्रेस की जीत हुई। ईवीएम से चुनाव होने पर जीतने वाली सरकार अचानक मतपत्र से क्यों चुनाव करा रही है, यह समझ से परे है। भाजपा नेताओं ने यहां तक कहा कि या तो दाल में काला है या पूरी दाल ही काली है।

सांसद सुनील सोनी ने कहा कि पार्षद चुनाव में जीत का अंतर काफी कम होता है। मतपत्र से चुनाव कराने पर काफी मत अवैध हो जाते हैं। इसका असर चुनाव नतीजे पर पड़ता है। नतीजे की वैधता संदिग्ध हो जाती है। ईवीएम से चुनाव में एक भी मत अवैध नहीं होता। पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने कहा कि देश-दुनिया में रोज नई टेक्नालाजी का इस्तेमाल बढ़ रहा है। वहीं कांग्रेस सरकार इस प्रदेश को 25 साल पीछे ले जाकर मतपत्र से चुनाव करा रही है। ईवीएम से चुनाव कराने से समय श्रम और खर्च की बचत होती है।

पूर्व मंत्री राजेश मूणत ने कहा कि ईवीएम से चुनाव कराए जाएं। राज्यपाल प्रदेश सरकार को इस संबंध में निर्देशित करें ताकि समय और खर्च की बचत हो सके। प्रतिनिधिमंडल में पूर्व विधायक देवजी पटेल, नगर निगम रायपुर के सभापति प्रफुल्ल विश्वकर्मा, छत्तीसगढ़ स्टेट बेवरेज कार्पोरेशन के पूर्व अध्यक्ष सच्चिदानंद उपासने, रायपुर विकास प्राधिकरण के पूर्व अध्यक्ष संजय श्रीवास्तव, नरेश गुप्ता, सत्यम दुआ सहित अन्य प्रतिनिधि उपस्थित थे।