Breaking News

Top News

राजनांदगांव जिला में जन्मे आवेदक को दुर्ग नगर निगम से जारी कर दिया जन्म प्रमाण पत्र, हेल्थ अफसर को शोकाज नोटिस      

Share Now

शिकायत होने पर विभाग की कम्प्यूटर आपरेटर ने चिप्स के टेक्निकल मैनेजर कार्यालय में हंगामा किया, सेवा समाप्ति का नोटिस

दुर्ग नगर निगम के कामकाज में  चल रही भर्राशाही के कारण सब कुछ उलटा पुलटा हो रहा है। ताजा कारनामा एक बार फिर निगम के स्वास्थ्य अधिकारी उमेश मिश्रा ने किया है। राजनांदगांव में जन्मे आवेदक का बर्थ सर्टिफिकेट दुर्ग नगर निगम से जारी कर दिया गया। इस मामले में निगम कमिश्नर इंद्रजीत बर्मन ने स्वास्थ्य अधिकारी उमेश मिश्रा को शोकाज नोटिस जारी किया है। मिश्रा से 3 दिनों के भीतर जवाब मांगा गया है।    

नगर निगम दुर्ग की सीमा क्षेत्र में नर्सिंग होम, जिला अस्पताल, व अन्य अस्पतालों में जन्म लेने वाले बच्चों और मृतकों का जन्म व मृत्यु प्रमाण पत्र नगर निगम से जारी किया जाता है। निगम कमिश्नर ने बताया कि ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल से यह जानकारी मिली है कि राजनांदगांव जिला में जन्म होने के बावजूद आवेदक के आवेदन पर दुर्ग निगम से जन्म प्रमाण पत्र जारी कर दिया गया। इसकी पड़ताल करने पर पता चला कि ऐसी अनियमितता हुई है। शिकायत मिलने के बाद तत्काल आवेदक के आवेदन को खारिज कर दिया गया।

कमिश्नर ने कहा कि यह कृत्य अनुशासनहीनता के साथ कर्तव्य के प्रति घोर लापरवाही है। इस प्रकरण में स्वास्थ्य अधिकारी उमेश मिश्रा को शोकाज नोटिस जारी किया गया है। नोटिस का जवाब 3 दिनों के भीतर देने कहा गया है। उचित जवाब न मिलने पर एक पक्षीय निलंबन कार्यवाही की चेतावनी दी गई है। विभाग की कम्प्यूटर आपरेटर दामनी भूवाल को सेवा समाप्त करने कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

उन्होंने बताया कि कम्प्यूटर आपरेटर ने अपने अधिकार का गलत उपयोग करते हुए राजनांदगांव नगर निगम के आवेदक का आवेदन दुर्ग निगम के स्वास्थ्य अधिकारी को प्रेषित किया। इसी कृत्य के कारण यह जन्म प्रमाण पत्र दुर्ग नगर निगम से जारी हो गया। इसकी शिकायत मिलने पर दामनी भूवाल ने एक अन्य व्यक्ति के साथ चिप्स के कार्यालय में जाकर कर्मचारियों की उपस्थिति में टेक्निकल मैनेजर से गाली-गलौज की। उन्हें डराया धमकाया और हंगामा किया। यह अपराधिक कृत्य है। इस कृत्य को देखते हुए उनकी सेवा समाप्त करने कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।