Breaking News

Top News

विपत्तियों से बचने और शुभ की कामना के साथ सीएम के हाथों में सोंटा मारा गया

Share Now

282

जंजगिरी, कुम्हारी में गौरागौरी पूजन में शामिल हुए मुख्यमंत्री, गोवर्धन पूजा के अवसर पर पूरे प्रदेश में मनाया जा रहा है गौठान दिवस

दीपोत्सव मनाने के बाद दूसरे दिन आज पूरे प्रदेश में गोवर्धन पूजा मनाया गया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जंजगिरी में गौरा गौरी पूजन में शामिल हुए। इस मौके पर शुभ की कामना के साथ विपत्तियों को दूर करने प्रार्थना के साथ प्रतीक रूप से रस्सी के सोंटा से हाथ में मारने की परंपरा है। इसी परंपरा का निर्वहन करते हुए मुख्यमंत्री के हाथों में सोंटा मारा गया। इसके बाद बाजे गाजे के साथ भव्य जुलूस निकाला गया। जंजगिरी के बाद कुम्हारी में भी मुख्यमंत्री गौरागौरी पूजन में शामिल हुए।

मुख्यमंत्री के निर्देश पर गोवर्धन पूजा के अवसर पर गौठान दिवस मनाया जा रहा है। खुद मुख्यमंत्री ने गोवर्धन पूजा के मौके पर सुबह से गौरागौरी पूजन और गोवर्धन पूजा में शामिल होने सुबह से निकल गए। करीब 7 बजे सीएम जंजगिरी में पूजा अर्चना में शामिल होने के बाद सुबह 8 बजे कुम्हारी पहुंचे और पूजा अर्चना की। यहां से सीएम रायपुर स्थित मुख्यमंत्री निवास पहुंचे जहां सुबह साढ़े 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक गोवर्धन पूजा कार्यक्रम में शामिल होंगे।

बता दें कि दीप पर्व के दूसरे दिन गोवर्धन पूजा के मौके पर गायों को नहलाकर पूरे विधि विधान से पूजा कर खिचड़ी  खिलाने की परंपरा है। इस परंपरा के अलावा गौपालकों ने गोबर का गोला बनाकर गाय के पैर से उसका स्पर्श कराया। गाय के गले में नई रस्सी बांधकर उसकी पूजा की गई। एक दूसरे को गोबर का तिलक लगाकर बड़ों से आशीर्वाद लेते हुए पर्व की बधाई दी गई।