Breaking News

Top News

सीएम ने धान खरीदी पर चर्चा करने पीएम से फिर मांगा समय, पहले भी मांग चुके हैं समय, किसानों के हित में धान का समर्थन मूल्य 2500 रूपए प्रति क्विंटल करने किया अनुरोध

Share Now

छत्तीसगढ़ में 2500 रुपए प्रति क्विंटल की दर से धान खरीदी पर करना चाहते हैं चर्चा   

images (5)

छत्तीसगढ़ में 15 नवंबर से धान खरीदी की तैयारी शुरू हो चुकी है लेकिन इस मामले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की चर्चा नहीं हो पाई है। इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र भेजकर उनसे मिलने के लिए समय मांगा था। पत्र में कहा गया कि किसानों से समर्थन मूल्य पर धान उपार्जन का कार्य शीघ्र शुरू किया जाना है।

5 जुलाई और 25 अक्टूबर को भेजे गए पत्रों का हवाला देते हुए सीएम ने कहा है कि खरीफ वर्ष 2019-20 में किसानों के हित में समर्थन मूल्य को बढ़ाकर 2500 रूपए प्रति क्विंटल करने का निवेदन किया गया था। किसी  कारणवश भारत सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य में इस अनुरूप धान की कीमत में वृृद्धि करना संभव न हो तो सीएम ने राज्य सरकार को इस मूल्य पर धान उपार्जित करने की सहमति देने का अनुरोध किया।
मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को भेजे पत्र में कहा है कि राज्य के किसानों के व्यापक आर्थिक हित को देखते हुए एमओयू की कंडिका 1 की शर्त से शिथिलता प्रदान करते हुए राज्य के सार्वजनिक वितरण प्रणाली की जरूरत के अलावा  उपार्जित होने वाले चावल (अरवा और उसना) को केन्द्रीय पूल में मान्य किया जाए। खरीफ वर्ष 2019-20 में एफसीआई द्वारा छत्तीसगढ़ से 32 लाख मेट्रिक टन चावल उपार्जन करने की अनुमति देने आवश्यक दिशा-निर्देश जारी करने का अनुरोध किया।

मुख्यमंत्री पीएम को संबोधित करते हुए पत्र में लिखा है कि अत्यंत महत्वपूर्ण विषय होने के कारण उन्होंने 23 और 24 अक्टूबर को आपके कार्यालय में मिलने का समय चाहा था लेकिन आपकी अन्य व्यस्तताओं के कारण मिलने का समय नहीं मिला। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से छत्तीसगढ़ में धान खरीदी के संबंध में चर्चा के लिए शीघ्र समय देने का अनुरोध किया है।