Breaking News

Top News

मुख्यमंत्री छठ महापर्व में शामिल हुए, सूर्य मंदिर में पूजा अर्चना कर प्रदेशवासियों की सुख समृद्धि के लिए मांगा आशीर्वाद

Share Now

उत्तर भारतीय और भोजपुरी समाज को सामाजिक और सांस्कृतिक कार्यो के लिए भूमि देने की घोषणा की

37

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज रायपुर स्थित महादेव घाट के अलावा बीरगांव और हीरापुर में आयोजित छठ महापर्व में शामिल होकर उत्तर भारतीय और भोजपुरी समाज सहित प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने उत्तर भारतीय और भोजपुरी समाज को सामाजिक और सांस्कृतिक कार्यो के लिए छठ पूजा आयोजन समिति महादेव घाट को भूमि प्रदान करने की घोषणा की। समारोह स्थल पर भोजपुरी लोक गायिका सुश्री देवी ने छठ मइया की आराधना पर आधारित भजनों की शानदार प्रस्तुति दी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार के बाद छत्तीसगढ़ में छठ महापर्व पर अवकाश की घोषणा हुई। आपकी खुशी में भागीदार बनकर मुझे खुशी हो रही है। राजधानी रायपुर सहित प्रदेश के विभिन्न जिलों में रहने वाले उत्तर भारतीय और भोजपुरी समाज के लोग श्रद्धापूर्वक छठ महापर्व मना रहे हैं। यह पर्व हिन्दुस्तान में ही नहीं दुनिया के अनेक देशों में मनाया जा रहा है। इस पर्व में माताओं और बहनों द्वारा कठिन तपस्या कर परिवार की बेहतरी और सुख-समृृद्धि के लिए छठ मइया  की पूजा की जाती है। उन्होंने माताओं-बहनों और सभी व्रतियों को बधाई और शुभकामनाएं दी।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री को आयोजन समिति ने भगवान सूर्य की प्रतिमा भेंट की। कार्यक्रम में विधायक विकास उपाध्याय ने कहा कि मुख्यमंत्री की पहल पर छत्तीसगढ़ में छठ पूजा के लिए अवकाश की घोषणा की गई है। कार्यक्रम को पूर्व मंत्री बृृजमोहन अग्रवाल, नगर निगम रायपुर के महापौर प्रमोद दुबे, बीरगांव नगर निगम की महापौर अम्बिका यदु ने भी संबोधित किया। पूर्व महापौर किरणमयी नायक, पूर्व जिला पंचायत सदस्य पंकज शर्मा, छठ महापर्व आयोजन समिति के प्रमुख राजेश, अवधेश गौतम सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे।

बीरगांव और हीरापुर में छठ महापर्व में शामिल हुए
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बीरगांव के व्यास तालाब और हीरापुर के छुईया तालाब में आयोजित छठ महापर्व में भी शामिल हुए और उत्तर भारतीय और भोजपुरी समाज के लोगों को बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि बीरगांव क्षेत्र के विकास में कोई कमी नही रखी जाएगी। यहां तालाब के सौन्दर्यीकरण, पेयजल की व्यवस्था और कॉलेज की व्यवस्था जैसी मांगों पर आवश्यक पहल करने के लिए आश्वस्त किया। मुख्यमंत्री ने हीरापुर के छुईया तालाब के किनारे स्थित सूर्य मंदिर जाकर पूजा अर्चना की और प्रदेश की जनता की सुख समृद्धि के लिए आशीर्वाद मांगा। उत्तर भारतीय समाज द्वारा मुख्यमंत्री का गज माला से स्वागत किया गया और प्रतीक चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर आयोजन समिति से जुड़े राकेश सिंह गौतम, भोला सिंह सहित छठ महापर्व से जुड़े पदाधिकारी एवं श्रद्धालु उपस्थित थे।