Breaking News

Top News

नगपुरा पंचायत सचिव के विरुद्ध जांच रिपोर्ट में भ्रष्टाचार प्रमाणित होने पर भी कार्यवाही नहीं हुई, जिला पंचायत घेरने पर युवा कांग्रेसी गिरफ्तार

Share Now

दुर्ग। नगपुरा ग्राम पंचायत सचिव के विरुद्ध जांच रिपोर्ट में भ्रष्टाचार प्रमाणित होने के बाद भी कार्यवाही न होने के विरोध में युवा कांग्रेसियों ने आज जिला पंचायत का घेराव कर दिया। गुस्साए युवा कांग्रेसियों ने करीब 4 घंटे तक जिला पंचायत को घेरे रखा। प्रशासन से चर्चा विफल रहने के बाद पुलिस ने 47 युवा कांग्रेसियों को गिरफ्तार कर लिया जिन्हें शाम को रिहा किया गया।43प्रदर्शन के दौरान युवा कांग्रेसियों को समझाने पहुंचे एसडीएम केएल वर्मा और एएसपी के साथ युवा कांग्रेसियों की तीखी बहस हुई। जिला पंचायत सदस्य जयंत देशमुख ने एसडीएम समेत प्रशासनिक अधिकारियों पर मनमानी करने का आरोप लगाया। उन्होंने साफ कहा कि भ्रष्टाचार करने वालों को संरक्षण दिया जा रहा है। शिकायत करने पर प्रशासनिक अफसर नेतागिरी करने का आरोप लगा रहे हैं।आंदोलन के कारण दिन भर जिला पंचायत कार्यालय में पुलिस बल तैनात रहा। प्रशासनिक अफसरों से चर्चा विफल रहने पर शाम 4 बजे एसडीएम केएल वर्मा और एडिशनल एसपी विवेक शुक्ला ने युवा कांग्रेसियों को गिरफ्तार करने की चेतावनी दी। चेतावनी के बाद भी युवा कांग्रेसी नहीं माने। गिरफ्तारी शुरू करने पर जिला पंचायत सदस्य जयंत देशमुख और जिला युवा कांग्रेस अध्यक्ष अंकुश पिल्लै आंदोलन स्थल पर पहुंचे।तीखी नोक झोंक के बाद उन्हें भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। कुल 47 युवा कांग्रेसियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। शाम 6 बजे सभी को निःशर्त रिहा कर दिया गया। प्रदर्शन के दौरान धर्मेश देशमुख, आकाश सेन, देवा श्रीकांत, आकाश चन्द्राकर, अजित यादव, विक्रांत ताम्रकार, विनोद देशमुख, अखिलेश जोशी, सुरेंद्र, गोपी निर्मलकर, खिलेश्वर सिन्हा, विक्की घुघवारे, सोहन देशमुख सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद थे।