Breaking News

Top News

सीएम की बैठक में नहीं आए भाजपा सांसद, मुख्यमंत्री ने कहा मौकापरस्त और किसान विरोधी है भाजपा    

Share Now

रमन बोले, सांसदों को नहीं मिली सूचना, भूपेश का जवाब पावती है हमारे पास, सभी को दी सूचना

52.jpg

धान खरीदी के मुद्दे पर मुख्यमंत्री द्वारा बुलाई बैठक का भाजपा सांसदों ने बहिस्कार कर दिया। एक भी भाजपा सांसद बैठक में नहीं पहुंचा। राज्य में कांग्रेस के दो लोकसभा सांसद दो राज्यसभा सांसद हैं। भाजपा के 9 लोकसभा सांसद और 3 राज्यसभा सांसद हैं। बैठक में कांग्रेस के तीन सांसद पहुंचे। राज्यसभा सांसद दिल्ली में होने के कारण बैठक में शामिल नहीं हो पाए। हालांकि इस मुद्दे पर वोरा और भूपेश के बीच 26 अक्टूबर को लंबी चर्चा हो चुकी है। बैठक में कांग्रेस सांसद दीपक बैज, ज्योत्सना महंत, राज्यसभा सांसद छाया वर्मा मौजूद रहे।

भाजपा ने पहले ही कह दिया था नहीं आएंगे  

इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रमन सिंह ने बैठक शुरू होने से पहले ही कह दिया था कि भाजपा के सांसद बैठक में शामिल नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि सांसदों को बैठक की सूचना नहीं दी गई। उन्होंने कहा कि धान खरीदी का वादा कर कांग्रेस ने चुनाव जीता है। अब उन्हें वादा पूरा करना चाहिए। इस मामले में दुर्ग के भाजपा सांसद विजय बघेल ने भी कड़ा बयान जारी किया है। बघेल ने कहा है कि सरकार बनाने झूठे वादे किए। अब वादे पूरे न कर पाने के कारण केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। विजय ने कहा कि 2014 में रमन सरकार ने भी धान का समर्थन मूल्य बढ़ाने की मांग की थी लेकिन केंद्र सरकार ने मांग पूरी करने से इंकार कर दिया। कांग्रेस ने 25 सौ रुपए समर्थन मूल्य पर धान खरीदने की घोषणा की थी। अब कांग्रेस को अपने दम पर वादा निभाना चाहिए। विजय ने सवाल करते हुए कहा कि सरकार बनाने से पहले कांग्रेस ने क्या भाजपा सांसदों से पूछकर वादे किए थे।

भाजपा सांसदों के रवैये पर सीएम नाराज, दो सवाल दागे    

इधर सीएम ने भाजपा सांसदों के रवैये पर नाराजगी जताते हुए कहा कि भाजपा सांसदों ने किसानों का साथ देने की बजाय राजनीति शुरू कर दी है। उन्होंने भाजपा सांसदों से दो सवाल किए हैं। भूपेश ने पूछा है कि क्या किसानों को 25 सौ रुपए प्रति क्विंटल की दर से धान का मूल्य मिलना चाहिए या नहीं ? भूपेश ने दूसरा सवाल किया है कि क्या सेंट्रल पूल से धान की खरीदी होना चाहिए या नहीं? किसानों को बैठक की सूचना न मिलने के आरोप को गलत बताते हुए भूपेश ने कहा कि सभी को सूचना दी गई। सूचना मिलने की पावती भी है। भाजपा ने हमेशा किसानों से झूठे वादे और मौका परस्ती की राजनीति की है।