Breaking News

Top News

भाजपा को छोड़ सभी राजनैतिक दल किसान हित में भूपेश सरकार के साथ, प्रदेश के किसान संगठनों ने भी दिया समर्थन

Share Now

61

सर्वदलीय बैठक में मुख्यमंत्री की अपील, दलगत राजनीति छोड़ किसानों के हित में साथ दें

रायपुर। समर्थन मूल्य पर धान खरीदी को लेकर मंत्रालय में कल मंत्रालय में हुई सर्वदलीय बैठक में भाजपा को छोड़कर सभी राजनीतिक दलों ने किसानों के हित में भूपेश सरकार का समर्थन किया है। बैठक में भाजपा संगठन के पदाधिकारी शामिल नहीं हुए। मुख्यमंत्री के बुलावे पर सांसदों की बैठक में भी भाजपा सांसद नहीं आए। किसानों को 25 सौ रुपए प्रति क्विंटल की दर से धान खरीदी और सेंट्रल पूल से 32 लाख मीट्रिक टन धान खरीदने के मुद्दे पर भाजपा ने अपना रूख साफ नहीं किया है।

बैठक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किसानों के हितों के लिए दलगत राजनीति से ऊपर उठकर सहयोग देने का आग्रह किया था। उनके आग्रह पर राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों ने अपना पूरा समर्थन व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने बैठक में कहा कि केन्द्रीय पूल में चावल की खरीदी न होने पर राज्य के किसानों और अर्थव्यवस्था पर विपरीत प्रभाव पड़ेगा। उन्होंने कहा कि राज्य शासन अपने संसाधनों से किसानों को प्रति क्विंटल धान का मूल्य 2500 रूपए दे रही है। केन्द्र सरकार को सिर्फ खरीदी की अनुमति देना है।

बैठक में छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जे) के विधायक धर्मजीत सिंह ने कहा उनकी पार्टी ने 2500 रूपए क्विंटल में धान खरीदी के निर्णय की तारीफ की थी। इस निर्णय से किसानों को राहत मिली है उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार हुआ है। किसानों के हितों के लिए वे सरकार के साथ हैं। बहुजन समाज पार्टी के केशव चंद्रा ने कहा कि किसानों को न्याय दिलाने में वे सरकार के पक्ष का समर्थन करते हैं। सीपीआई के सी.आर.बख्शी, सीपीआई (एम) के आरडीसीपी राव और एनसीपी के सोनू गोस्वामी ने भी किसानों के हित में राज्य सरकार के पक्ष का समर्थन किया।

मंत्रालय में पहली बार किसान संगठनों और किसानों की बैठक हुई, सीएम और किसानों के बीच विस्तार से हुई सीधी बात  सर्वदलीय बैठक के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के सभी किसान संगठनों के साथ अलग बैठक बुलाई जिसमें समर्थन मूल्य पर धान खरीदी को लेकर प्रदेश के अलग-अलग जिलों से आए किसान संगठनों और किसान शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के संबंध में सरकार के निर्णयों और कदमों की विस्तृत जानकारी दी। किसानों ने सरकार के निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि पहली बार मंत्रालय में किसानों की बैठक हो रही है। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया। 

62

किसानों ने बताया कि 2500 रूपए प्रति क्विंटल धान की खरीदी से किसानों की माली हालत में काफी सुधार आया है और खेती से युवा वर्ग भी जुड़ रह है। खेती किसानी में भी रोजगार के न अवसर मिल रहे हैं। मुख्यमंत्री ने किसान संगठनों और किसानांे से अपने-अपने क्षेत्र के किसानों, व्यापारियों और खेतीकिसानी से जुड़े संगठनों से सेन्ट्रल पूल में चावल खरीदी के संबंध में प्रधानमंत्री को पत्र लिखने का आग्रह किया। किसानों और संगठनों ने मुख्यमंत्री के इस आग्रह का स्वागत करते हुए पूर्ण समर्थन देने पर सहमति जताई है।