Breaking News

Top News

सामरी में सीएम ने फिर कहा, हर हाल में खरीदेंगे 2500 रुपए क्विंटल में किसानों का धान

Share Now

8-2.jpg

सामरी क्षेत्र को मिली 59 करोड़ रुपए के विकास कार्याें की सौगात, चांदो बनगा तहसील

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि चाहे जो भी परिस्थितियां बने, छत्तीसगढ़ सरकार अपने किसानों का धान 2500 रुपए प्रति क्विंटल के दर से ही खरीदेगी। उन्होंने छत्तीसगढ़ के लोगों खास तौर पर किसानों से सहयोग और समर्थन का आग्रह करते हुए आगे कहा कि किसानों को उनकी उपज का वाजिब मूल्य देना और 2500 रुपए क्विंटल में धान खरीदना अपराध नहीं है। कार्यक्रम में उपस्थित हजारों ग्रामीणों ने हाथ उठाकर मुख्यमंत्री का समर्थन किया।

बता दें कि केंद्र सरकार ने धान खरीदी पर बोनस देने की अनुमति देेने से रोक और छत्तीसगढ़ के किसानों का धान सेंट्रल पूल से खरीदने से इंकार करने के बाद कई तरह की आशंकाएं व्यक्त की जा रही थी। केंद्र सरकार के रवैये के कारण प्रदेश सरकार को 25 सौ रुपए प्रति क्विंटल की दर से धान खरीदी करने पर जबर्दस्त आर्थिक भार उठाना पड़ेगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने साफ कह दिया है कि किसानों का धान 25 सौ रुपए प्रति क्विंटल की दर से ही खरीदा जाएगा। यह घोषणा कर मुख्यमंत्री ने किसानों का दिल जीत लिया।

मुख्यमंत्री आज बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के सामरी विधानसभा क्षेत्र के श्रीकोट में लोकार्पण व शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर सामरी विधानसभा क्षेत्र में 59 करोड़ रुपए की लागत से विकास कार्याें का लोकार्पण व शिलान्यास किया। सामरी विधायक चिंतामणि महाराज की मांग पर मुख्यमंत्री ने चांदो को तहसील बनाने के साथ ही अन्य मांगो को बजट में शामिल करने की बात कही।
मुख्यमंत्री ने संत गहिरा गुरूजी का पुण्य स्मरण करते हुए कहा कि उन्होंने इस क्षेत्र में समाज को जागरूक किया। एक नई दिशा और जीवन जीने की शिक्षा दी। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में हजारों की संख्या में उपस्थित लोगों को सामरी क्षेत्र के विकास के लिए बधाई दी। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि उनकी सरकार छत्तीसगढ़ के ग्रामीणों और किसानों की खुशहाली के लिए काम कर रही है।

2500 रुपए क्विंटल में धान खरीदी, ऋण माफी, बिजली बिल हाफ और हरेक परिवार को 35 किलो चावल देने के वादा निभाने का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि इससे छत्तीसगढ़ में खुशहाली आई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे देश में मंदी है लेकिन छत्तीसगढ़ में इसका कोई प्रभाव नहीं है। छत्तीसगढ़ के बाजारो में रौनक रही है। सराफा बाजार में 84 प्रतिशत, आटोमोबाईल सेक्टर में 13 प्रतिशत सहित व्यवसाय के अन्य क्षेत्रों में भी बढ़ोतरी हुई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सुराजी गांव योजना के तहत पशुधन की बेहतरी के लिए राज्य में 2000 से ज्यादा गौठान बनाए गए हैं। नालों में बारिश के बहते पानी को रोकने और भूजल स्तर बेहतर बनाने राज्य के 1028 नालों के बंधान का काम शुरू हो रहा है। इससे पेयजल, सिंचाई, निस्तार के लिए पानी उपलब्ध होगा। उन्होंने ग्रामीणों और किसानों से धान का पैरा न जलाने और गौठानों में पैरा दान करने की अपील की। ताकि, पशुओं को चारा मिल सके।
कार्यक्रम को पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टीएससिंह देव, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, उच्च शिक्षा मंत्री व बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के प्रभारी मंत्री उमेश पटेल ने भी संबोधित किया। क्षेत्रीय विधायक चिन्तामणि महाराज ने मुख्यमंत्री सहित सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए क्षेत्र की प्रमुख मांगों को पूरा करने की मांग की। इस दौरान सरगुजा विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष खेलसाय सिंह, जशपुर विधायक विनय भगत, लुन्ड्रा विधायक डॉ. प्रीतम राम, पूर्व विधायक महेश्वर पैंकरा सहित अशोक, हरीश मिश्रा, अब्दुल्ला खान, सत्यनारायण सिंह, टीपी गुप्ता सहित अन्य जनप्रतिनिधि व ग्रामीणजन उपस्थित थे।