Breaking News

Top News

छत्तीसगढ़ के सुगंधित चावल की खुशबू अरब देशों में महकेगी, सऊदी अरब, कुवैत, कतर से आई चावल की डिमांड, लैब में तैयार मशरूम की भी काफी मांग

Share Now

4-5.jpeg

राजधानी क्षेत्र के ग्रेटर नोएडा के एक्सपो मार्ट में देश के जैविक खाद्य उत्पादों और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों की प्रदर्शनी में छत्तीसगढ़ के जैविक उत्पादों की जबर्दस्त मांग हो रही है। 7 नवंबर से शुरू हुई प्रदर्शनी 9 नवंबर तक लगाई जाएगी। मेले में छत्तीसगढ़ के सुगंधित चावल की काफी डिमांड है। देश के अलग अलग राज्यों के अलावा खाड़ी के देश सऊदी अरब, बहरीन, कुवैत, यूएई, कतर आदि देशों से सुगंधित चावल की डिमांड आई है।

सुगंधित चावल में सबसे ज्यादा जवाफुल, रामजीरा, विष्णुभोग, दुबराज की खरीदारी हो रही है। इसके अलावा मेले में लैब में आर्टिफिशियल तरीके से तैयार किए गए मशरूम की काफी डिमांड है। यह खास तरह का मशरूम हिमालय की तराई में 10 हजार फीट की ऊंचाई पर उत्पादित होता है। इसे छत्तीसगढ़ के लैब में कृत्रिम तरीके से टिशू कल्चर से तैयार किया जा रहा है।

8-5

इस मशरूम से शरीर की रोग प्रतिरोध क्षमता बढ़ती है। हार्ट अटैक से बचाव, किडनी को स्वस्थ रखने और बीपी कंट्रोल करने में भी सहायक है। मशरूम के लिए वियतनाम, सिंगापुर के लोग ज्यादा रुचि ले रहे हैं। मेले में प्रदेश के जैविक चावल, दाल, हर्बल टी, मसाले, बस्तर की इमली, अलसी, मुनगा के विभिन्न उत्पाद कैप्सूल, टैबलेट, पाउडर, तेल, प्रसंस्कृत खाद्य, औषधीय पौधों समेत कई जैविक उत्पाद उपलब्ध हैं।