Breaking News

Top News

शांति समिति की बैठक में सभी मेंबर बोले, कायम रहेगी दुर्ग की सांप्रदायिक सौहार्द और एकता की परंपरा

Share Now

9-4

प्रशासन रखेगा पैनी नजर, माहौल बिगाड़ने वालों पर कड़ी कार्रवाई होगी, गलत मैेसेज पोस्ट करने पर भी होगी कार्रवाई

दुर्ग। अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के पहले जिले में शांति एवं अमन चैन की स्थिति कायम रखने शांति समिति की महत्वपूर्ण बैठक में सभी सदस्यों ने एक स्वर में कहा कि जिले में सांप्रदायिक सौहार्द की परंपरा है और यह परंपरा कायम रहेगी। दुर्ग जिले में हमेशा से सभी समुदायों के लोग मिलजुल कर रहते हैं। यह परंपरा इस बार भी कायम रहेगी और सांप्रदायिक एकता की स्थिति बनी रहेगी।

बैठक में कलेक्टर अंकित आनंद और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव ने शांति समिति के सदस्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि जिले में सांप्रदायिक सौहार्द और भाईचारा कायम रखने को लेकर आपका संकल्प काबिले तारीफ है। जिला प्रशासन की ओर से आपको हर संभव सहयोग दिया जाएगा। कलेक्टर ने कहा कि प्रशासन लगातार स्थिति पर निगरानी रखेगा। शांति समिति के सदस्यों से मिले फीडबैक पर भी कार्रवाई की जाएगी।

कोई भी असामाजिक तत्व अगर माहौल बिगाड़ने की कोशिश करेगा तो उस पर त्वरित कार्रवाई की जाएगी। कलेक्टर ने कहा कि सोशल मीडिया पर पैनी नजर रखी जा रही है। लोगों से अपील की गई है कि अफवाहों पर ध्यान न दें। सोशल मीडिया पर गलत संदेश प्रसारित करने वाले तत्वों या माहौल खराब करने का प्रयास करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

कलेक्टर ने कहा कि अब सोशल मीडिया में मैसेज के मूल स्रोत तक जाना संभव हो गया है। कोई भी गलत संदेश प्रसारित कर अपनी जिम्मेदारी से बच नहीं सकता। ऐसा करने पर उन्हें ट्रैक कर लिया जाएगा और उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कहा कि दुर्ग में हमेशा से सांप्रदायिक सौहार्द का वातावरण है और इसमे समुदाय प्रमुखों की बड़ी भूमिका रही है।

उन्होंने आगे कहा कि अमन-चैन कायम रखने में उनकी भूमिका के कारण दुर्ग में कभी भी खराब माहौल नहीं बना। इस परंपरा को हमेशा की तरह कायम रखना है। इस बार भी हम सब इसमें सफल होंगे। पुलिस लगातार स्थिति पर नजर रखेगी। बैठक में शांति समिति के सदस्यों ने प्रशासनिक अधिकारियों को आश्वस्त किया कि वे सभी सांप्रदायिक सौहार्द का वातावरण कायम रखने के लिए संकल्पित हैं। बैठक में संयुक्त कलेक्टर प्रमोद शांडिल्य, एएसपी रोहित झा भी उपस्थित थे।