Breaking News

Top News

जनचौपाल में सीएम के निर्देश- दिव्यांग शशि के घर की मरम्मत होगी, पैरालंपिक खिलाड़ियों को डेढ़-डेढ़ लाख की आर्थिक सहायता, बॉडी बिल्डर को मिली बैटरी चलित ट्रायसाइकल

Share Now

13-2.jpg13-1.jpg

दिव्यांग शशि कुमारी उइके को इंदिरा आवास मिला लेकिन मकान में छत ढलाई का काम कई साल बाद भी पूरा नहीं हुआ। जन चौपाल में पहुंचकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को मोबाइल पर घर की तस्वीर दिखाई। ढलाई कराने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने रायपुर कलेक्टर को फौरन मकान की मरम्मत कराने के निर्देश दिए। दिव्यांग शशी कठीया गांव की निवासी है। शशि ने बताया कि उनके स्वर्गीय पिता दुबराज सिंह के नाम पर शासन ने इंदिरा आवास योजना के तहत मकान दिया लेकिन मकान में लेंटर नहीं हुआ है। 9 साल पहले पिता की मृत्यु हो चुकी है और मकान अभी तक जर्जर स्थिति में है।

दिव्यांग बॉडी बिल्डर एसराज सेंदरे को बैटरी चलित ट्रायसाइकल मिली  

टिकरापारा रायपुर के दिव्यांग बॉडी बिल्डर एसराज सेंदरे को जन चौपाल में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बैटरी चलित ट्रायसायकल प्रदान किया। मुख्यमंत्री ने सेंदरे से आवेदन लेकर बातचीत की और ट्रायसायकल देकर मनोबल बढ़ाया। सेंदरे ने बताया कि वे बचपन से ही दोनों पैरों से दिव्यांग हैं। उनकी पत्नी घरेलू काम-काज करती है और इसी से उसका घर चल रहा है। वे 17 वर्ष की उम्र से बॉडी बिल्डिंग का प्रदर्शन मुम्बई, तमिलनाडु , कांकेर, भिलाई, दुर्ग, अंबिकापुर और बेमेतरा में कर चुके है। प्रदर्शन में उन्हें पहला और दूसरा स्थान भी मिला है।

दो पैरालंपिक खिलाड़ियों को अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धा के लिए डेढ़-डेढ़ लाख रूपए स्वीकृत

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सीएम हाउस में आयोजित जन-चौपाल भेंट मुलाकात में प्रदेश के दो पैरालंपिक खिलाड़ियों को अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धा में शामिल होने डेढ़-डेढ़ लाख रूपए की आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत की।बिलासपुर की पैरालंपिक खिलाड़ी रोहिनी साहू और कवर्धा के हरिहर सिंह राजपूत ने मुख्यमंत्री से मुलाकात कर बताया कि थाइलैण्ड में अगले साल 20 से 28 फरवरी तक होने वाली पैरालंपिक अंतर्राष्ट्रीय व्हील चेयर फेंसिंग प्रतियोगिता में उनका चयन हुआ है। उन्होंने स्पर्धा में रजिस्ट्रेशन, वीजा, बीमा, खेल किट और आने-जाने के लिए आर्थिक सहायता देने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने दोनो पैरालंपिक खिलाड़ियों को स्वेच्छानुदान से डेढ़-डेढ़ लाख रूपए की आर्थिक सहायता स्वीकृत की है।