Breaking News

Top News

6 मंत्रियों के साथ सीएम आज दिल्ली जाएंगे, राष्ट्रपति और केन्द्रीय मंत्रियों से मिलकर चावल, धान खरीदी पर होगी चर्चा

Share Now

BFCE38BA8E3B6365B0503FA747BD2321.jpgccc

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 14 नवंबर को मंत्रिमंडल के सहयोगियों के साथ नई दिल्ली जाएंगे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलकर केन्द्र सरकार द्वारा पिछले साल की तरह इस साल भी सेंट्रल पूल के लिए छत्तीसगढ़ से चावल का उपार्जन कराने का अनुरोध करेंगे। मुख्यमंत्री और मंत्रियों का दल शाम को केन्द्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर और केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान से मुलाकात करेगा। वे राज्य के किसानों के हित में सेन्ट्रल पूल में चावल खरीदी, धान खरीदी जैसे विषयों पर चर्चा करेंगे।

मुख्यमंत्री के साथ प्रदेश के स्वास्थ्य एवं पंचायत मंत्री टीएस सिंहदेव, गृह एवं लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि एवं जल संसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री अमरजीत भगत, नगरीय प्रशासन एवं श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया तथा वन, पर्यावरण एवं आवास मंत्री मोहम्मद अकबर नई दिल्ली जाएंगे। इधर सूत्रों से पता चला है कि राष्ट्रपति से मुलाकात का कार्यक्रम टल गया है। ताजा जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री और अन्य मंत्री अब सिर्फ केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात करेंगे।

इस दौरान छत्तीसगढ़ के किसानों के हित में सेंट्रल पूल में 32 लाख मीटरिक टन चावल की खरीदी के संबंध में अवगत कराया जाएगा। केन्द्र सरकार ने वर्ष 2014 में निर्णय लिया था कि राज्य सरकार अगर किसानों से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी पर बोनस देगी तो उनसे सेन्ट्रल पूल में चावल नहीं लिया जाएगा। इसके बावजूद छत्तीसगढ़ में पूर्व में दो वर्षों में इस प्रावधान को शिथिल कर सेन्ट्रल पूल में छत्तीसगढ़ से चावल लिया गया। इसी तर्ज पर छत्तीसगढ़ सरकार ने वर्ष 2019-20 में सेन्ट्रल पूल में प्रधानमंत्री से प्रावधान को शिथिल कर सेन्ट्रल पूल में छत्तीसगढ़ से चावल लेने का आग्रह किया है।

इस संबंध में प्रधानमंत्री और केन्द्रीय खाद्य मंत्री को पूर्व में पत्र भी लिखा गया है, लेकिन वहां से असहमति का पत्र भेजा गया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि किसानों के हित में छत्तीसगढ़ सरकार इस साल भी किसानों से 2500 रूपए प्रति क्विंटल पर धान की खरीदी करेगी। इस वर्ष लगभग 85 लाख मीट्रिक टन धान खरीदी होने का अनुमान है। उन्होंने किसानों के हित में केन्द्र सरकार को प्रावधान को शिथिल करते हुए इस वर्ष सेन्ट्रल पूल में छत्तीसगढ़ से 32 लाख मीट्रिक टन चावल का उपार्जन करने की अनुमति मांगी है।